बेगूसराय के इफ्फतुर रहमान ने कन्हैया का खोला पोल,जिसे पढ़कर आप हो जाएगे हैरान !

1028

सहरसा (kx डेस्क) : कन्हैया के कदम से ईश्वर भी ना खुश थे तभी तो कन्हैया के जाते ही रिमझिम बारिश ने कन्हैया के कदम रखने से अपवित्र दिनकर की धरती को बारिश देकर पवित्र का पवित्र ही रहने दिया और अपवित्र होने से बचा लिया | कन्हैया ने जहाँ-जहाँ महापुरुष के प्रतिमा को छुआ था वहाँ-वहाँ उस प्रतिमा को गंगा जल से धोया गया था लेकिन कन्हैया के कदम जहाँ-जहाँ पङे थे उस स्थान को ईश्वर ने धो दिया | जिस कन्हैया ने देश को बदनाम किया और घुम-घुम कर देश को कमज़ोर करने मेँ लगा है उस कन्हैया को कुछ तथाकथित सोच वाले लोग उनके साथ घुमकर अपने आपको गर्व महसुस कर रहे है ऐसे लोग देश के लिए खतरा है |

कन्हैया बताएँ की आप बेगूसराय आए जरुर हर तरफ घुमेँ पर कारगिल के युद्ध मेँ शहिद हुए जवान के घर वालोँ से मिलने क्योँ नहीँ गये,देश का नाम रौशन करने वाली बेटी जो पायलट बनी हैँ उनके माता पिता को बधाई देने क्योँ नहीँ पहुँचे| एक परिवार (तीहरे हत्याकांड) के तीन सदस्य 2 साल के मासुम सहित की हत्या हुई तो उनके परिजन से मिलना तो दुर एक चर्चा तक नहीँ किया आखिर क्योँ | ये सब देख कन्हैया का लक्ष्य और मांसिकता साफ झलक जाता है ऐसे लोग सिर्फ अपने फायदे केलिए कभी भी कर सकता है,कभी देश विरोध मेँ नारा लगाने वाले कन्हैया अपनी आत्मा पर हाथ रखकर एक मिनट सोच कर बताए कि कन्हैया देश के हित या अहित मेँ काम कर रहा है |कुछ गंदे मांसिकता वाले लोग तो वीर कन्हैया तक कहने लगे  है जो सरासर गलत है वीर का खिताब आज देशद्रोही को देकर अपने आपको किया साबित करना चाहते हो |भगत सिँह,चन्द्र शेखर आजाद जैसे देश के अंदर कई वीर पुरुष देश केलिए कुर्बानिया दे गये किया पता था उन वीर महापुरुष को की मेरे जाने के बाद देश के अंदर कुछ ऐसा भी नज़ारा होगा |अगर उन महान वीर पुरुष को ये पता होता की देश मेँ ऐसे गंदे मांसिकता के लोग पैदा भी हो जाएगा तो उस वक्त शहीद ना होकर आज ऐसे देशद्रोहियोँ के लिए जिँदा रहते और अंजाम कुछ और होता अभी भी वक्त है सुधर जाओ और वीर पुरुष को ठेँस ना पहुँचाओ वरना कहीँ तेरे जैसे गद्दार के लिए फिर भगत सिँह तुझ जैसे देशद्रोही के लिए पैदा ना ले ले |

जय हिन्द। आपका मित्र इफ्फतुर रहमान स्वतंत्र भारतीय नागरिक बेगूसराय बिहार

( श्रोत http://www.facebook.com/iffaturrahmanyuva इफ्फतुर रहमान के फेसबुक से लिया गया है )