शराबबंदी :हम यादों में झूमते है और ज़माना कहता है “देखो आज फिर पीकर आया है !

1013
गिरफ्तार युवक

मधेपुरा (संजय कुमार सुमन) :हर   तरफ  ख़ामोशी  का  साया  है ,ज़िन्दगी  में  प्यार  किसने  पाया  है ,हम  यादों  में  झूमते  है  और  ज़माना  कहता  है “देखो  आज  फिर  पीकर  आया  है.यही हाल होता है शराबी का … 

बिहार में शराब बेचना, पीना और शराब ले जाना जुर्म है. लेकिन क्या सच सिर्फ यही है.बिहार में शराबबंदी के बाद नीतीश सरकार का दावा है कि परिंदा भी शराब लेकर बिहार नहीं जा सकता है। शराब की तस्करी रोकने के लिए हर दिन बड़े बड़े दावे किये जा रहे है। लेकिन सच क्या है आप खुद देख रहे है और समझ रहे है आए दिनों मिडिया में यह खबर आ रही है इस जिले से तो कभी उस जिले से शराब पीने या बेचने या तस्करी में कोई ना कोई गिरफ़्तारी हो रही है |कहने को बिहार में चेकिंग भी है और तमाम ताम झाम भी इन सब ताम झाम की पडताल करने पर पता चलता है कि ये सब महज खाना पूर्ति है. कोसी-सीमांचल के इलाके में बड़ी आसानी से शराब उची कीमतों पर बेचीं जा रही है |

दाबे की निकल रही हवा 

बिहार में शराब बंदी के बावजूद शराबी कही ना कहीं से शराब का जुगार कर ही लेता है। शराब पीने के बाद जब नशा चढ़ता है तो देखने वाले भौचक रह जाते है।नशा तब टूटता है जब कोई पुलिस को सूचना कर देता है। बीते शाम गुरुवार को इसी तरह शराब पीकर हंगामा करने वाले को चौसा पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा । बताया जाता है कि चौसा थाना क्षेत्र के कलासन बाजार निवासी प्रीतम कुमार साह शराब पी रहे थे। इसी बीच पुलिस को सूचना मिली और पुलिस ने दबोच लिया। गिरफ्तार शराबी को पुलिस ने चौसा अस्पताल लाकर मेडिकल जाँच कराया जहां चिकित्सक ने शराबी घोषित कर दिया । थाना अध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने बताया की युवक को सार्वजनिक स्थानो पर शराब पीते पकड़ा गया है। जिसे जेल भेजा जायेगा