ईद को लेकर बाजारों में चहल-पहल तेज !

583

मधेपुरा (संजय कुमार सुमन) :रमजान के पाक महीने में तीस दिनों तक रोजा रखने के बाद आने वाले ईद को लेकर चौसा बाजारों की चहल-पहल बढ़ गई है। जैसे-जैसे चांद के दीदार के दिन नजदीक आ रहे हैं प्रखंड के बाजार देर रात तक खुलने लगे हैं। सड़क किनारे सेवईयां, फल, खजूर आदि की दुकान सज गयी हैं तो दूसरी तरफ कपड़े व रेडिमेड दुकान की रौनक बढ़ चली है। दुकान ग्राहक से गुलजार है। शाम के वक्त जगह-जगह इफ्तार पार्टी का भी आयोजन हो रहा है। पाक महीना रमजान को लेकर इन दिनों चौसा में काफी रोनक दिखाई दे रही है। बाजारों में भीड़ का माहौल बना हुआ है। मुस्लिम समाज के लोगो में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। आज मंगलवार को चौसा के विभिन्न बाजारों में महिलाओं और युवतियों की भी खासी भीड उमडी रही। ईद को लेकर युवक भी नये-नये कपंडे खरीदने के लिये रेडीमेड वस्त्रों की दुकानों पर पहुंच रहे हैं। नन्हे-मुन्ने बच्चों मे भी ईद पर्व को लेकर उत्साह है। कुल मिलाकर ईद-उल-फितर पर्व को लेकर शहर में चहल-पहल पूरे सबाब पर है। हर कोई पर्व को लेकर उत्साहित नजर आ रहा है। ईद से पहले शहर के बाजारों में रोनक आ गयी है। मुस्लिम परिवार बाजारों में खरीददारी करने के लिये उमडने लगे है। सबसे ज्यादा कपडों की खरीददारी हो रही है। कपडों की दुकानों पर सबसे ज्यादा भीड दिखाई दे रही है। युवा वर्ग जीन्स, टी-शर्ट, कुर्ता-पजामा और जूतों की खरीददारी में रूचि ले रहा है। लखनवी कुर्ते रोजेदारों की पहली पसन्द बने हुये हैं। उधर बाजारों में रौनक बढने से दुकानदार खुश नजर आ रहे है। दुकानदार राजेन्द्र भगत,विनोद जायसवाल,अमिताभ जायसवाल,सुनील जायसवाल का कहना कि ईद का त्यौहार नजदीक होने की वजह से इस समय बाजार में भीड बढ गयी है। ईद एक ऐसा पर्व है जो आपसी भाईचारे का संदेश देता है, इस दिन लोग एक दूसरे के गले मिल मुबारकबाद देते है। जैसे-जैसे रमजान का महीना गुजरता जा रहा है वैसे-वैसे बाजारों में इसकी रौनक बढती जा रही है। ईद की खुशियां में मानो पूरा बाजार सज गया है। मुस्लिम घरों में इसकी तैयारियॉ शुरू हो गयी है। क्या बच्चे क्या बुजुर्ग सभी के चेहरे पर चमक सी आ गयी है। सभी को बस ईद के इस्तकबाल का इंतजार है।