पंचायत सरकार :सविता प्रमुख तो रूना बनी उप प्रमुख !

396

सहरसा (ब्रजेश भारती) : कड़ी सुरक्षा व्यवस्था एवं काफी गहमागहमी के बीच मंगलवार को अनुमंडल मुख्यालय स्थित ई किसान भवन में प्रखंड प्रमुख एवं उपप्रमुख का चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो गई। रायपुरा पंचायत समिति सदस्य सह पूर्व मुखिया रायपुरा पंचायत रालोसपा के राष्ट्रीय महासचिव अरविंद सिह कुशवाहा कि पत्नी सविता देवी प्रखंड प्रमुख तो सिमरी पंचायत समिति सदस्य रूणा देवी उपप्रमुख चुनी गई। जीत के बाद ज्योहि दोनो सदन से वाहर निकली सर्मथकों ने फुल मालाओं से लाद अबिर गुलाल लगा एक दुसरे को जीत कि बधाई दी।

WhatsApp-Image-20160628 (7)

खगड़िया सांसद खेमे में गया दोनो पद

इससे पूर्व सुबह 11 बजे से ही चुनाव को लेकर प्रखंड मुख्यालय परिषर में सर्मथकों की भाड़ी भीड़ उमड़ने लगी निर्धारित समय पर सभी सदस्य सदन के अंदर प्रवेश किये। एसडीओं सह निर्वाची पदाधिकारी सुमन प्रसाद साह ने सबसे पहले कुल निर्वाचित 30 सदस्यों को शपथ  दिलाये उसके बाद प्रमुख पर के लिये सहमती नही बनने के बाद गुप्त मतदान का सहारा लिया गया सबसे पहले प्रमुख पद के लिये दो प्रत्याशी सविता देवी एवं कांठों पंचायत समिति सदस्य शबनम कुमारी ने अपने नामजदगी के पर्चे दाखिल किये।सभी सदस्यों ने गुप्त मतदान करने के बाद निर्वाची पदाधिकारी ने परिणाम कि धोषणा करते हुये कहा कि सविता देवी को कुल 17 मत,शबनम कुमारी को कुल 12 मत एवं एक मत रद्ध प्राप्त हुआ इस प्रकार सविता देवी को विजयी धोषित किया गया।

WhatsApp-Image-20160628 (9)

सविता देवी को प्रमुख पद कि शपत दिलाने के बाद उपप्रमुख पद के लिये तीन नामांकन हुआ जिसमे सिमरी पंचायत समिति सदस्य रूना देवी,सकड़ा पहाड़पुर समिति सदस्य यसबंत सिह एवं रधुनंदन सिह ने नामांकन किया।गुप्त मतदान के बाद परिणाम कि धोषणा कि गई जिसमें रूणा देवी को कुल 20 मत,यसबंत सिह को कुल 7 मत एवं रधुनंदन सिह को मात्र 2 मत प्राप्त हुआ एक मत रद्ध धोषित कि गई इस प्रकार रूणा देवी को उपप्रमुख निर्वाचित धोषित कि गईं। दोनों पदों पर खगड़िया सांसद चैधरी महबुब अली केसर के सर्मथक कि जीत के बाद उनके ड्योढ़ी  स्थित आवास पर जमकर मिठाई बांट कर खुशिया मनाई गई।WhatsApp-Image-20160628 (8)

इस अवसर पर मो हस्सान आलम,अरविंद सिह कुशवाहा,प्रसुन सिह,मो नौशाद आलम,मो पप्पु,बैजू शर्मा,राहुल कुमार सिह,गजेन्द्र पासवान,भवेश पासवान,राजेश पौद्यार,इन्दल सादा,जीवछ पासवान,नीतू कुुमारी,विमला देवी,मीना कुमारी,मो शकील,संजीत साह,मो कौशर आलम,शिवकुमार साह,पिक्कु यादव,अरूण कुमार यादव,फिरोज आलम,इनामुल खा,इरफान आलम,सुमन सिह,टंडन साह,निखिल कुमार,मुरारी सिह,रामचन्द्र पौद्वार,देव नारायण राय,संतोष सिह,राजकुमार चैधरी,राजनारायण सिह,कौशल सिह,मो मुस्ताक,रामचन्द्र सिह,बिरजु चैधरीउपेन्द्र पौद्वार,शंकर कुमार आदि मुख्य रूप से मौजूद रहें।