सर ना झुकाने की सजा भुगत रहे है पूर्व सांसद आनंद मोहन -चेतन आनंद

1393
आमसभा को संबोधित करते चेतन आनंद

मधेपुरा : सहरसा में  19 जून 2016 को महाराणा प्रताप, भामा साह, हकीम खान सूरी, राणा पूंजा, झाला सरदार की याद में सहरसा में “विराट शोभा यात्रा और स्मृति सभा” की सफलता को लेकर कोशी क्षेत्र सहित बिहार के जिलों में जगह-जगह सभा का आयोजन किया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग पुरोधाओं की याद में मनाए जा रहे कार्यक्रम में शरीक हो सके | इसी कड़ी में सहरसा में होने वाली कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु मधेपुरा के गणेश स्थान एवं तुनियाही में हम (से.) के युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व सांसद आनंद मोहन एवं लवली आनंद के ज्येष्ठ  पुत्र चेतन आनंद ने सभा को संबोधित किया.

WhatsApp-Image-20160613 (7)

महाराणा प्रताप की जीवनशैली अपनाने की सजा मिल रही आनन्द मोहन जी को

 सभा को संबोधित करते हुए युवा नेता चेतन आनंद कहा कि हमारे पिता आनंद मोहन महाराणा प्रताप की जीवनी को हमेशा पढ़ते हुए उनके हर एक जीवनशैली को धरातल पर उतारने की हर संभव कोशिश की. आज उन्ही कोशिश का अंजाम उन्हें भुगतना पर रहा है. आज बड़े-बड़े मुजरिम, आतंकवादियों व देशद्रोहियों को पैरोल तथा आसानी से बेल मिल जाती है, लेकिन श्री आनंद को क्यों नहीं ?

13396510_145077612571305_1852219593_oवहीँ सभा को संबोधित करते हुए कुलानंद अकेला ने कहा कि जो गरीबों की खातिर लड़ता है उसका यही अंजाम मिलता है. मौके पर राजन आनंद ने कहा कि अब समय आ गया है हमें अपनी एकजुटता दिखाने का और श्री मोहन को न्याय दिलाने का.

      इस मौके पर युवा नेता अमित सिंह “मोनी”, बाबा जी सिंह, सतीश सिंह, गुड्डू सिंह, संजय राणा, भूषण सिंह, रोहिन  दास, शंकर यादव, दीपक यादव, अंकेश,रत्नेश सिंह व भारी संख्यां में अन्य ग्रामीण भी उपस्थित थे.