बच्चे की मौत के बाद मुआवजे की मांग को लेकर देर रात तक चला प्रदर्शन !

1505

मधेपुरा/चौसा(संजय कुमार सुमन)) :चौसा थाना के कृष्ण टोला में बीते दिन मंगलवार को सड़क दुर्घटना में मारे गये 12 वर्षीय नीरज कुमार की मौत पर देर रात तक स्थानीय आक्रोशित लोगों ने शव को सड़क पर रख कर प्रदर्शन किया।इतना ही नही प्रखंड मुख्यालय के सभी सड़कों को बाँस-बल्ले एव बड़ी वाहन को सड़क पर आरे तिरछे खड़ी कर आवागमन को भी देर रात तक बाधित रखा।जिससे सड़कों पर एक ओर जहाँ वाहनों की लम्बी कतार देखी गई वहीं दूर-दराज जाने वालों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। आक्रोशित लोग मुआवजे की मांग कर रहे थे।

चालक को आक्रोशित लोगों ने पुलिस के चुंगल से छुड़ा कर एक घर में बंद कर दिया।जहाँ से चालक लोगों को चकमा देकर फरार होने में कामयाब रहा।

घटना की जानकारी मिलते ही प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश बिहारी वर्मा,अंचल अधिकारी अजय कुमार,सांसद प्रतिनिध अभिनंदन मंडल,चौसा थाना के अवर निरीक्षक फागू राम,नवनिर्वाचित जिला परिषद रोहित सोरेन मौके पर पहुँच कर लोगों को काफी समझाया लेकिन आक्रोशित लोग मुआवजा मिलने तक आंदोलन जारी रखने की बात पर अरे रहे। उपस्थित पदाधिकारी ने उचित मुआवजा देने की बात कही।

जिला परिषद रोहित सोरेन ने सरकारी मुआवजा दिलाने की बात कहते हुए अपने निजी कोश से 21 हजार रुपये नगद प्रदान किया,प्रखंड विकास पदाधिकारी श्री वर्मा ने दाह संस्कार के लिये तीन हजार और बाद में 20 हजार,अंचल अधिकारी अजय कुमार ने नियमानुसार आपदा विभाग से उचित राशि देने की घोषणा की।बावजूद इसके आक्रोशित लोग मानने को तैयार नही हुए।पदाधिकारी द्वारा काफी समझाने के बाद अंत में देर रात को सड़क जाम को हटाया गया और शव को अंत्य परीक्षण के लिये सदर अस्पताल भेजा गया।

बहरहाल जो भी हो सड़क दुर्घटना में लोगों के मरने का सिलसिला जारी है। आक्रोशित लोगों ने बेहतर सड़क निर्माण होने तक चौसा-अरजपुर पथ पर बेरीकेटिन्ग लगाने की मांग की ।