सिमरी पंचायत के मतगणना पर उठी अंगुली,विरोध-प्रदर्शन जारी !

1034

सहरसा/ सिमरीबख्तियारपुर (बिनोद कुमार) :अनुमंडल  के सिमरी पंचायत के मतगणना में हुए का आरोप लगाते हुए आज रानीबाग बाज़ार सहित एनएच 107 को सुबह से ही बंद कर विरोध प्रर्दशन किया जा रहा है|एक मत से हारी मुखिया प्रत्याशी वीवी शाहिन खातुन एवं उनके समर्थको ने मतगणना में हुए धांधली पुनः मतगणना एवं बीडीओ चंदा कुमारी पर मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए मुख्य सड़क सहित बाजारों को बंद कर दिया है | संबाद प्रेषण तक सड़क जाम खत्म करने के लिए  पुलिस आंदोलनकारियो को समझाने का प्रयाश कर रही थी |

WhatsApp-Image-20160606 (2)

क्या है पुरा मामला -:
सिमरी पंचायत के मुखिया प्रत्यासी वीवी शाहिन खातुन ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त,बिहार राज्य निर्वाचन आयोग पटना को आवेदन देकर सिमरी पंचायत के मुखिया पद मतगणना में धांधली का आरोप लगाया है वही दिये आवेदन में कहा कि मैं सिमरी पंचायत के प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र संख्या 20 से मुखिया पद की उम्मीदवार थी 2 मई को दिन के 2 बजे से मेरे पंचायत की मतगणना शुरू हूई जो रात के करीब 12:30 बजे सम्पन्न हुआ जिसमें मेरे चुनाव चिन्ह पुल छाप पर कुल 1005 मत प्राप्त हुआ और पुनम देवी के ईंट छाप को कुल 991 मत प्राप्त हुआ

WhatsApp-Image-20160606 (3)WhatsApp-Image-20160606 (3)

जबकि मैं 14 मत आगे था और पुनम देवी पीछे रहीं पर पुनम देवी के चुनाव अभिकर्ता किशोरी प्रसाद केशरी ने पुनः मतगणना हेतु आवेदन पत्र दे दिया जिसके बाद पुनः मतगणना की प्रक्रिया शुरू हुआ जबकि मेरे चुनाव अभिकर्ता के रूप में मेरे पति हैलाल अशरफ वही मौजूद थे पर उन्हें मतगणना हॉल से बाहर कर दिया गया और वह बाहर बैठकर जीत की घोषणा का इंतजार करने लगे और उधर मतगणना हॉल में पूनः मतगणना का कार्य होने के उपरांत मुझे 993 मत दर्शाते हूये एक वोट से हराकर पुनम देवी को 994 मत प्राप्त कराकर विजयी घाषित कर दिया मेरे अभिकर्ता भौंचक रह गया उन्होंनें काफी आवाज उठाई पर उनकी कोई सुनवाई तक नहीं हूयी और पुनम देवी को जीत का प्रमाण पत्र दे दिया गया ।

WhatsApp-Image-20160606 (1)

WhatsApp-Image-20160606 (4)

मुझे पुरा विश्वास है कि सिमरी पंचायत के मुखिया पद मतगणना में भारी पैमाने पर धांधली की गयी वही उन्होंने कहा कि पुरे मतगणना केंद्र में सीसीटीवी केमड़े लगे हूये है उससे भी स्पष्ट हो जाएगा कि मेरे चुनाव अभिकर्ता मतगणना हॉल में पूनः मतगणना में शामिल हैं या नहीं जिसकी गहन जांच करवाई जाय और वरीय पदाधिकारीयों से पुनः निष्पक्ष मतगणना करवाई जाय ताकि हमें न्याय मिल सकें ।