पंचायत चुनाव : हार का बदला फसल बर्बाद कर लिया !

1336
बर्बाद किए फसल को दिखाते पीड़ित किसान

कटिहार:(SYEAD SHADAB ALAM)  पंचायत चुनाव की मतगणना के बाद मार-पिट,तंग-तबाह करने का दौर शुरू हो चूका है | इसकी बानगी देखने को मिला कटिहार जिले मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के सिरनिया पूर्वी पंचायत के गोला घाट में की है जब एक प्रत्याशी जियाउल हक ने चुनाव हार जाने के बाद स्थानीय मतदाताओ के साथ मारपीट की घटनाओं को अंजाम देने के साथ साथ-साथ खेतो में लगी फसलों को भी नुकसान पहूंचाया जा रहा है। जहां एक किसान मो.तालिब के करीब एक एकड में लगी लाखों रुपये की सब्जी के फसल को उखाड कर बर्वाद कर दिया गया है। पूरा मामला चुनावी रंजिश का परिणाम है बताया जा रहा है ।

20160531_093218

खेत में सब्जी लगे फसल को दिखाता किसान मो.तालिब की गलती सिर्फ इतना है कि अपने गांव के एक दबंग प्रत्याशी को इसने वोट नहीं दिया। मतदान के बाद से ही प्रत्याशी सबक सिखाने की धमकी देता रहा था औऱ मतगणना में पराजय का मुंह देखने के साथ ही बीती रात इसने अपने साथियों के साथ करीब एक एकड में लगी परवल की फसल को उखाडकर बर्वाद कर दिया है। गोलाघाट के इस किसान ने दो लाख रुपये के लीज पर जमीन लेकर और करीब तीन लाख रुपये की पूंजी लगाकर परवल की खेती किया है । खेती के लिए इसने किसान क्रेडिट कार्ड के अलावे सुद पर रुपये भी लिये थे। खेती से आने वाले रुपये से परिवार का भरण पोषण होता। अब खेत के फसल के बर्वाद होने से किसान के पूरे परिवार के सामने भूखमरी की स्थिति हो जायेगी। पीड़ित किसान के पडोसी मो.ऐनुल भी फसल के बर्वाद करने से मर्माहत है।

पीड़ित किसान ने मुफस्सिल थाना में जियाउल हक एंव उसके साथियो के विरूद्ध प्राथमिकी भी दर्ज करा दी है। और मुुस्सिल थाना पुलिस द्वारा मामले की छानबिन भी शुरू कर दी गइ है

गोलाघाट गांव सिरनिया पूर्वी और पश्चिम पंचायत के सीमा पर स्थित गांव है। घटना की सूचना मिलते ही दोनों पंचायतों के नवनिर्वाचित मुखिया नारायण पासवान एवं रामलखन साह मौके पर पहूंचकर किसान की हालत को देखा और कहा कि हत्या सिर्फ एक व्यक्ति की हो सकती है लेकिन फसल बर्वाद कर पूरे परिवार को मौत के कगार पर पहूंचाया गया है |

सरकारें किसानों के उत्थान और खेती को बढावा देने के लिए तरह तरह की योजनाएं चला रही है…ताकि हमारा देश आत्मनिर्भर बन सके…। ऐसे में किसानों को खेती से विमुख करने की साजिश करने वालों के खिलाफ कठोर कारवाई करने की जरुरत है…।