एक्सपायरी दवा मामले में गिरने लगी गाज,अबतक नहीं मिली स्टॉक पंजी !

2098
फोटो- फाइल

सहरसा/सिमरीबख्तियारपुर (विनोद) : बीते दिनों चौधरी टोला से एक ठेले से करीब सात बोड़े में बंद सरकारी एक्सपायरी दवा मामले शुक्रवार को पहूँचे जॉच में क्षेत्रीय अपर निदेशक कोशी प्रमंडल पदाधिकारी डा शशिभूषण प्रसाद शर्मा के जॉचोप्रांत दोषीयो पर गाज गिरनी शुरू हो चूकी है पहली कड़ी में सिमरीबख्तियारपुर अस्पताल प्रबंधक विजय यादव का हुआ तबादला आमजनों में चर्चा बना हूआ है
सरकारी एक्सपायरी दवाई कांड मे आखिरकार यह पहली कार्यवाई हुई है  बताया जा रहा है की दवाई कांड की निष्पक्ष जॉच होने को लेकर इसलिए यह कार्यवाई की गई.जबकि  विभाग  इसे रूटीन तबादला बता पल्ला झाड़ रही है परन्तु सूत्रों से मिली जानकारी मुताबिक दवाई कांड मे जांच प्रभावित ना हो इसलिए विजय कुमार का तबादला किया गया है.

चौधरी टोला से हूई थी बरामद दवा
बताते चले कि  स्वास्थ्य प्रबन्धक अपने प्भाव के लिए जाने जाते हैं यही कारण है कि  17 अप्रेल 2007 से ही सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडलीय अस्पताल मे जमे थे.वही विजय कुमार की जगह परीक्षित कुमार को सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडलीय अस्पताल मे स्वास्थ्य प्रबंधक के रूप मे पदस्थापित होने का आदेश दिया गया है.वही विजय कुमार को चौबीस घंटे के अंदर बनमा इटहरी पीएचसी  मे योगदान देने को कहा गया है
……हमने स्वास्थ्य प्रबंधक बिजय कुमार यादव को विरमित कर दिया है रही बात एक्सपायरी दवा बरामदगी को लेकर तो बता दूँ इसमें शामिल लोगों पर भी कारवाई होनी तय है जिसने भी ऐसा किया वह माफी के लायक नहीं है |

डा अभिनाश कुमार सिंह ,चिकित्सा प्रभारी , सिमरीबख्तियारपुर