विधालय के औचक निरक्षण से हडकंप !

1489
विद्यालय का निरीक्षण करते डीपीओं

मधेपुरा/चौसा (संजय  कुमार सुमन) उच्च माध्यमिक के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुरेन्द्र प्रसाद ने बीते दिन चौसा प्रखंड के कई विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण से शिक्षकों में हड़कंप देखा गया। कई प्रस्तावित उच्च विद्यालय स्थल का भी निरीक्षण किया।
जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुरेन्द्र प्रसाद ने मध्य विद्यालय घोषई,प्राथमिक पिद्यालय धरहरा टोला कलासन,कन्या मध्य विद्यालय चौसा,उत्क्रमित मध्य विद्यालय लक्ष्मीनियां टोला का औचक निरीक्षण किया। डीपीओं की गाड़ी विद्यालय परिसर में घुसते ही शिक्षकों में हड़कंप देखा गया। औचक निरीक्षण के दौरान विद्यालय की लूंज-पूंज व्यवस्था को देखकर काफी नाराजगी व्यक्त करते हुए उपस्थित प्रधानाध्यापक को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिये और विद्यालय को बेहतर तरीके से संचालन एवं विधि व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त करने की बात कही।
डीपीओं श्री प्रसाद ने लक्ष्मीनियां टोला में प्रस्तावित उच्च विद्यालय के लिए उत्क्रमित मध्य विद्यालय लक्ष्मीनियां टोला का भी निरीक्षण किया। विद्यालय पहुंचते ही स्थानीय ग्रामीणों द्वारा विद्यालय परिसर को अतिक्रमण कर खुले मैदान में मकई सुखाने पर कड़ी आपति दर्ज की और कहा कि इस तरह विद्यालय का प्रयोग करना गलत है। उन्होनें घूम-घूम कर विद्यालय भवन एवं जमीन को देखा और स्थानीय लोगों से बात-चीत कर विद्यालय संबंधी जानकारी ली। इसके बाद उन्होनें ग्रामीणों को आश्वस्त करते हुए कहा कि निश्चित रूपेण सूदूरवर्ती गांव में उच्च विद्यालय खुलना चाहिए। उच्च विद्यालय के खुलने से विशेषकर बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में काफी सहूलियत होगी। उच्च विद्यालय के जमीन पर्याप्त है। उन्होनें विद्यालय शिक्षा समिति के सदस्यों को जमीन संबंधी कागजात कार्यालय को उपलब्ध कराने की बात कही।
इस मौके पर वरीय बीआरपी ओमप्रकाश पर्वे,समन्वयक बीरेन्द्र राय,संजय कुमार,पुरूषोतम कुमार,डीपीओं कार्यालय के प्रधान लिपिक मु0निजाम आदि उपस्थित थे।