अनुमंडलीय अस्पताल का निरक्षण कर बिफरे आरडीडीएच !

1310
निरक्षण करते स्वास्थ्य बिभाग के पदाधिकारी

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर (ब्रजेश भारती) : कोशी प्रमंडलीय क्षेत्रीय उपस्वास्थ निदेशक शशि भूषण शर्मा ने शुक्रवार को अनुमंडलीय अस्पताल सिमरी बख्तियारपुर का निरक्षण किया। निरक्षण के क्रम में कुव्यवस्था पर विफरे आरडीडीएच ने गायब मिले एसटीएस संजय सि हके वेतन पर रोक लगाते हुये कार्यवाही का निर्देश उपाधीक्षक अविनाश कुमार सिह को दिये। सबसे पहले जैसे ही वे अस्पताल परिषर में प्रवेश किये तो वहां बैठी एक महिला से पुछताछ किया गया तो महिला ने बताई कि सबकुछ ठीक है लेकिन नर्सो ने दास्ताना के लिये 25 रूपये ली हैं।

एसटीएस टीबी संजय साह के गायब मिलने पर वेतन पड़ लगी रोक

अस्पताल परिषर पर नजर पड़ते ही वहां मौजूद संजय सिह से पुछताछ कि गई तो पता चला कि ये लोग अवैध रूप से यहां दुकान लगा रखा है तो वे बोले कि सभी अतिक्रमण को अबिलंव खाली करा कर विभाग स्तर से दुकान का आवंटन कर किराया दर तयकर दुकान आवंटन किया जाय। वहां से एक्सरे रूम का निरक्षण करने पहुंचे तो रूम कि साफ सफाई पर कड़ी फटकार लगाये हुये अविलंब सभी व्यवस्था चुस्त दुरूस्त करने का निर्देश दिया, उपाधीक्षक के द्वारा बताया गया कि एक्सरे वाला बिजली बिल नही देता है तो वे वोले कि बिल का जो बकाया है बकाया काट कर भुगतान किया जाय। दवा स्टोर रूम कि जांच करने पहुचने से पहले पूर्व कोशी तटबंध के अंन्दर से आये छोटी शर्मा से पुछा तो बोले कि टीबी कि दवाई के लिये तीन दिनों से आ रहे है लेकिन रूम बंद मिलता है यहां के लोग बोलते है आज नही कल आऐं।ईतना सुनते ही वहां मौजूद अस्पताल उपाधीक्षक अविनाश कुमार से जानकारी लेकर एसटीएस संजय साह का वेतन रोक गायब रहने पर कार्यवाही करने का निर्देश देते हुये कहा कि आज जब हम यहां आये है तो वे गायब है इसका मतलब है कि अपनी मर्जी से कार्य करते हैं। स्टोर रूम कि जांच में रूम में दवा रखने के लिये रैक कि व्यवस्था नही रहने पर कड़ी नाराजगी जताते हुये रेक देने का निर्देश दिया गया।

-Image-20160520 (5)

अतिक्रमण खाली कर दुकान आवंटन का दिया निर्देश

वही एक दवा एडवेनडाजौल के विखरे मिलने पर स्टोर किपर श्याम सुन्दर साह को कड़ी फटकार लगाते हुये कहा कि अंतिम वा चेतावनी दी जा रही है अगर नही सुधरे तो निलंबित कर दिया जायेगा। स्टोर किपर के द्वारा जानकारी दी गई कि अभी ओपीडी में 15 प्रकार कि दवाई आउटडोर में 49 प्रकार कि दवाई उपलब्ध हैं।वही पूर्व स्टोर किपर के द्वारा अबतक पुराना रजिस्टर नही दिये जाने कि बात सामने आने पर उपाधीक्षक को कहा कि अगर दो दिनों में रजिस्टर जमा नही करता है तो सीधे उनपर प्राथमिकी दर्ज करवा दिया जायें। अस्पताल में मात्र 10 बैड होने पर आश्चर्य व्यक्त करते हुये आरडीडीएच ने उपाधीक्षक की जमकर क्लास लेते हुये कहा कि 30 बैड होने चाहिये अविलंब बैड कि खरीद करने का निर्देश देते हुये कहा कि अगर दुसरी बार यहां आये बैड नही मिला तो कार्यवाही के लिये तैयार रहें। वही साथ आये लेखा प्रवंधक को अस्पताल के दुसरी एवं तिसरी मंजिल पर अवैघ रूप से आवास बना कर रहने वाले कर्मी का सुची बना कर देने को कहा गया।आरडीडीएच ने कहा कि जिन लोगों कि सुची में नाम आयेगा वे लोग एक सप्ताह में आवास खाली नही करेंगें तो वे अपने आप को निलंबित समझे। इस अवसर पर संजय सिह,अविनाश कुमार सहित अन्य लोग मौजूद थें।

दो दिनों में खुन के सभी जांच होगें शुरू

पेथोलेब में लग रहे है ईटली से आई सीबीसी जांच मशीन

अनुमंडलीय अस्पताल में अब खुन के किसी भी प्रकार के जांच के लिये बाहर नही जाना पड़ेगा,दो दिनों में सीबीसी जांच मशीन काम करना शुरू कर देगा। खुन कि किसी भी प्रकार कि जांच हाथों हाथ कर रिपोर्ट दिया जायेगा। लैबटेकनिसियन अभिषेक कुमार सिह ने बताया कि सरकार ने करीब चार लाख रूपये कि लागत वाली सीबीसी मशीन यहा उपलब्ध करायी है मशीन आ गया है इंजिनियर के आते ही मशीन लगा दिये जाने के बाद यहां से खुन संबधित सभी प्रकार कि जांच प्रारंभ हो जायेगी जिनमें ऐनिमिया,टीसीडीसी,हीमोग्लोबीन,प्लेटलेटस आदि।