खेल मिड डे मील का !

1241
प्रभारी प्रिन्सिपल सीमा माधुरी

सहरसा (आनंद झा) : यूँ तो पुरे बिहार में शिक्षा विभाग में मिड डे मिल  से लेकर भवन निर्माण सहित कई योजनाओं के नाम पर लूट मची हुई है | सहायक से लेकर अधिकारी तक इस लूट की समंदर में गोते लगा रहे है और सरकार सोई हुई है ! इसी कड़ी में हम आपको एक एसे स्कूल से रूबरू करबाने जा रहे है जो जिले के बीचो बिच है उचित नगर प्राथमिक विद्यालय सहरसा जहाँ कई वर्षो से एम् डी एम् के नाम पर प्रधानाध्यापिका के द्वारा गड़बड़ी करने का आरोप लगता रहा है |

rjistar

सहरसा नगर के बीचो बीच स्थित उचित नगर प्राथमिक विद्यालय जहाँ छात्रों की कुल संख्या चार सौ के लगभग है और जब पत्रकारों की टीम दिन के 11 बजे स्कूल पहुंची तो वहां दो शिक्षिका के अलावा एक रसोइया और लगभग 20 बच्चे थे | जो एम् डी एम् में बनी खिचड़ी खा रहे थे और जब बच्चे की हाजरी बही देखि गई  तो उसमे 179 बच्चे की हाजरी बनी हुई थी, यहाँ आपको यह बताना लाजमी है की जितने बच्चे की उपस्थिति बनाई जाती है उसी के आधार पर एम् डी एम् की राशि विद्यालय को विभाग के द्वारा भेजी जाती है |

 

 इस सवाल के साथ जब हमने वहां मौजूद प्रभारी प्रधानाध्यापिका माधुरी रानी “सनद रहे” कि विद्यालय की प्रधानाध्यापिका तीन दिनों से छुट्टी पर थी पूछा तो पहले उन्होंने हमारे सवाल को घुमती रही परन्तु जब हमने थोड़े कड़े रुख में सवाल किया तो माफ़ी मांगते हुए खामोश हो गई और संयोग से हमारी उपस्थिति में ही जिला एम् डी एम् सह स्थापना पदाधिकारी नन्द किशोर राम जाँच करने पहुँच गए और जब उन्होंने सारी  कुव्यवस्था अपने आँखों से देखे तो आनन् फानन में सारी उपस्थिति पंजी को कब्जे में लेकर तत्काल प्रधानाध्यापिका सहित तीन का वेतन रोकने का आदेश दे दिया !