सिविल सर्जन ने किया अनुमंडलीय अस्पताल का निरक्षण !

1441
निरीक्षण के क्रम में मरीजो से बात करते सिविल सर्जन

सहरसा/सिमरी बख्तियारपुर (ब्रजेश भारती) :सहरसा के सिविल सर्जन डा अशोक कुमार सिह ने बुधवार को अनुमंडलीय अस्पताल का निरक्षण किया। निरक्षण के क्रम में आउट सोरसिंग पर जमकर क्लास ली गई वही दवा मामले कि विस्तार पूर्वक पड़ताल किया। ज्योहि वे अस्पताल परिषर पहुंचे सबसे पहले अस्पताल में ईलाजरत मरिजांे का हालचाल जाने इसी क्रम में कोशी तटबंध के अंदर से आये मरीज जो भुलवश मुंग कि फसल में छिड़काव के लिये घर में रखे दवाई को पी लिया था का हालचाल पुछ बेहतर चिकित्सा करने को कहा। उपस्थिती पंजी से कर्मीयों का मिला किये। उसके बाद अस्पताल के खाली कमड़ों में अवैध रूप से रह रहें अस्पतालकर्मी का सुची बना कर कार्यवाही कि बात कही गईं। निरक्षण के बाद मिडियाकर्मीयों से बात करते हुये सिविल सर्जन ने कहा कि जो एक्सपायरी दवा का मामला सामने आया है उसकी जांच पुलिस कर रही है अभी जिस जिस रूप में दवाई है उसको सील कर दिया जा रहा है साथ ही विभाग के द्वारा ड्रग इंन्सपेक्टर के नेतृत्व में एक जांच टीम का गठन कर इस मामले कि गहन जांच कि जायेगी इसमें जो भी लोग दोषी होगे को बक्से नही जायेगें। उन्होंने कहा कि जल्द इस अस्पताल में एक पैथोलेब कि व्यवस्था कि जायेगी मरीजों को जांच के लिये परेशानी हो रही हैं इसे दुर किया जायेगा। निरक्षण के क्रम में लोजपा नेता चांद मंजर ईमाम ने शिकायत किया कि अस्पताल कि व्यवस्था को जंग लग गया है कुछ कर्मी यहां तीन साल से अधिक समय से कार्यरत है इनलोगों के वजह से अस्पताल का हाल खराब हुआ है इस पर सिविल सर्जन ने कहा कि वैसे लोगों को चिन्हित कर  यहां से हटाया जायेगा ।

कुत्ते का आश्रय बना अस्पताल
कुत्ते का आश्रय बना अस्पताल

अस्पताल चकाचक कुत्तों का जमावड़ा- सिविल सर्जन के निरक्षण कि सुचना मिलते ही अस्पताल परिषर को चकाचक कर दिया गया लेकिन बैड पर सतरंगी चादर गायब दिखी वही अस्पताल के बरामदे पर सिविल सर्जन के आने से पहले कुत्तों का जमावड़ा लगा हुआ था। यहां बताते चले कि रविवार को अस्पताल से ठेला पर बोरा में लाद कर एक्सपायरी दवाईयों को फेंकने के लिये ले जाने के क्रम में चैधरी टोला के समीप ग्रामीणों ने पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया था जिसकी अभी तक जप्ती सुची बना कर विभाग के द्वारा पुलिस को दिया जा रहा है कि यह कोन सा दवाई था जो एक्सपायर कर गया है।