सुपौल- पत्रकारों ने निकाला आक्रोश मार्च !

1927

 सुपौल/छातापुर :  सिवान जिला के हिंदुस्तान ब्यरों चीफ़ राजदेव रंजन की हत्या शुक्रवार देर संध्या अज्ञात हमलावरो द्वारा गोली मारकर कर दी गयी। जिस कारण पत्रकारिता जगत के सभी साथियो मे आक्रोश का माहौल व्याप्त हो  गया है। पत्रकारों  का कहना है  कि इस  प्रकार की घटना निष्पक्ष व स्वतंत्र पत्रकारिता को प्रभावित करेगी। जो कतिपय समाज व राष्टय   के लिए हितकर नहीं होगा। फलत लोकतांत्रिक वयवस्था का सजग प्रहरी पत्रकारिता पर  बुरा असर पड़ेगा। उकत  घटना  के बिरोध  में  छातापुर  प्रेस क्लब  के सदस्यों ने सोमवार  को आक्रोश मार्च  निकला।

आक्रोश मार्च में पत्रकार
आक्रोश मार्च में पत्रकार

जिसमे  दर्जनों की संख्या में  छातापुर  प्रखण्ड  के बिभिन्न  समाचार  पत्र  के  संवाददाताओं ने  भाग  लेकर  माथे  पर काला  पट्टी बांधकर  बाजार का भ्रमण  किया। आक्रोश  मार्च  के  क्रम  में  मुख्यालय  स्थित धर्मशाला परिसर  से  मार्च में शामिल  पत्रकारों ने बिभिन्न नारे  राजदेव  के  हत्यारे  को  फांसी  दो  फांसी  दो ,पत्रकारों को  बिशेष सुविधा मुहैया  हो , दिवंगत राजदेव  रंजन  के आश्रितों  को  50  लाख  रूपये  मुआवजा दो  मुआवजा  दो,सुशासन की है  सरकार  अपराधों  की हुई बहार ,राजदेव रंजन के हत्यारो की अविलंब गिरफ्तारी व घटना की सीबीआई जांच कराते हुये दोषी वयक्तियों को फांसी की सजा सुनिश्चित की जाय आदि  लगाए।

GHATNA KA VIRODH MEJULUSH NIKALATE PATRAKAR

आक्रोश  मार्ग  में शामिल पत्रकारों  ने  ब्लॉक चौक पर  पहुंचकर प्रखंड विकाश पदाधिकारी  परवेज आलम को 9  सूत्री मांग से  सम्बंधित  ज्ञापन  सौंपा।  जबकि छातापुर प्रेस क्लब के द्वारा  उकत  घटना एवम पत्रकारिता की सुरक्षा के  मद्देनजर राज्यपाल के नाम से जारी ज्ञापन  को  बीडीओ  श्री आलम ने तत्क्षण एसडीओ  को  मांग पत्र  प्रेसित  किया। पत्रकारों ने 9  सूत्री  मांगो  में  निम्न मांगे शामिल है।

MOUN DHARAN KARTE PATRAKAR

  •     राजदेव रंजन के हत्यारे को अविलंभ गिरफ्तार करने
  •     घटना की सीबीआई जांच करवाने
  •     दोषी वयक्तियों को फांसी की सजा दिलवाने। 
  •     मृतक राजदेव रंजन के आश्रितों को 50 लाख रुपए का मुआवजा तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी। 
  •      पत्रकार सुरक्षा कानून को आविलभ लागू करने । 
  •      समाचार संकलन के दौरान बाधा डालने वालों के विरुद्ध बिशेष कानून बनवाने
  •      मीडिया कर्मी की हत्या को रेयरेस्ट क्राइम के अंतर्गत रखने । 

             MARCH NIKALATE PATRAKAR

झारखंड के चतरा मे इलेक्टोनिकस मीडिया  इन्द्र देव यादव उर्फ अखिलेश प्रसाद सिंह की हत्यारे को फांसी की सजा दिलवाने की मांग आपके माध्यम से करता हु।  लोकतंत्र के सजग प्रहरी पत्रकार की आर्थिक व सामाजिक सुरक्षा  सुनिश्चित किया जाय।

इस  मौके  पर  हिंदुस्तान के  संजय  कुमार भगत ,कौशल किशोर भारती , राज कुमार  झा , अलोक कुमार, दैनिक  जागरण के विनय वर्मा , मनोज कुमार झा ,मनोज  कुमार चौधरी ,प्रभात खबर के संजय कुमार  पप्पू ,कोशी xpress के अररिया  रिपोर्टर रवि रोशन भगत ,आज  के  सोनू कुमार  ,संजीव  कुमार ,शक्ति भगत ,कोशी  xpress के  सोनू कुमार भगत ,इरशाद आदिल आदि  थे। जबकि इससे  पुर्ब  रवि रोशन के नेतृत्व में पत्रकारों ने मुख्यालय  बाजार स्थित धर्मशाला में 2  मिनट  का मौन धारण  कर  दिवंगत पत्रकार राजदेव रंजन सहित इद्रदेव  यादव की आत्मा की शांति हेतु  ईश्वर से प्राथर्ना  किया  .।  

(समाचार  सहयोगी : –रवि रौशन  कुमार/सोनु  व  इरशाद आदिल )