पंचायत चुनाव : प्रचार के लिए मची है होड़ !

743

सुपौल/छातापुर (संतोष कुमार /सोनु कुमार  ) : छातापुर प्रखंड के 23 पंचायतों में आगामी  14  मई को  होने वाले  पंचायत चुनाव के मद्देनजर प्रत्याशियों के बीच प्रचार-प्रसार की होड़ मची है। सुबह  होते  ही  प्रत्यासियो  की  आवाजाही  मतदाताओं  के  घर , दुकान  सहित  खेतों  तक  शुरू  हो  जाती  है ।मतदाताओं  को  अपने  पक्ष  में  वोट  देने  की  अपील  करते  हुए  प्रत्यासी उनके  दुःख  दर्द  को  बारीकी  से सुनते नजर  आ रहे है । कड़ी  धूप  में भी  प्रत्यासी  मतदाताओं  की  समस्या  सुनते  देखे  गये  है।  चुनाव  की  तारीख  नजदीक आते  ही  प्रत्यासियो  की  बेचनी बढ़ सी  गयी  है। जिसको लेकर  प्रत्यासी  मतदाताओं  की हरेक समस्या  का समाधान अपनी  जित सुनिश्चित  होने पर करने की बात कर रहे है।  जबकि  जनता  भी सही  प्रत्यासियो  के चयन हेतु  अभी से जागरूक दिख रहे  है।  मतदाताओं का कहना है  कि  विकाश  को प्राथमिकता  देने वाले  स्वच्छ छवि के ईमानदार  नेता  प्रत्यासी  की जरुरत है।  जो  जनता के  हरेक  दुःख सुख में सहभागी बने  रहेंगे। मतदाता  अपने  पंचायत , वार्ड  की  सूरत  बदलने वाले प्रत्यासी  की खोज में है।  इधर  जिला परिषद , मुखिया , प्रसंस , वार्ड सदस्य ,पंच  पदों के प्त्यासी अपनी जीत  को  लेकर यदि चोटी  एक  कर  दिये  है। कहना पिन भी  भूलकर  वश  जनता के बीच  अपने छवि  को दिखने में  जुटे है। बिभिन्न पदों  के प्रत्यासी अपनी जित सुनिश्चित  करने  को  लेकर  मतदाताओं से उनके पंचायत , वार्ड  आदि को  विकाश  की  रौशनी से जगमगाने की बात जीत  होने  पर करने की बात  कर रहे  है। महिला प्रत्यासी के  प्रचार में स्वंग  प्रत्यासी सहित  उनके पति  व् अन्य  परिजन  जुटे देखे  जा रहे हैं।  जबकि पुरुष प्रत्यासी के चुनावी प्रचार में  प्रत्यासी  की पत्नी  व  अन्य  महिलाएं  भी  जोर शोर  से जुटे  है.चुनाव  प्रचार  के क्रम  में  प्रत्यासी  आदर्श आचार संहिता को भी  भूलने की  कोशिश कर रहे है।  जबकि  आचार  संहिता का उलंघन  किसी प्रत्यासी से पुनः न  हो इसके लिए  प्रखंड स्तर  के  पदाधिकारी  सक्रिय  दिख रहे  है। आदर्श आचार संहिता  को लेकर  मृत्युंजय  राम  नित्य  बिभिन्न पंचायतों का जायजा ले रहे है। यहाँ  बता दे  कि पंचायत चुनाव को लेकर चुनाव आयोग के द्वारा किये गये घोषणा में किसी भी प्रत्याशी को चुनाव आयोग के दिये हुये नियमों का  शाट शत पालन  नहीं  किये जाने की स्थिति में  वैसे प्रत्यासी  को  चिन्हित कर उनके ऊपर आदर्श आचार संहिता  का मामला दर्ज कर करवाई करने का  निर्देश सम्बद्ध  बिभाग  के अधिकारी  को  है। आचार  संहिता से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी सभी प्रत्यासियो  को प्रखंड तथा अनुमंडल पदाधिकारी  द्वारा  चुनाव प्रचार से पूरब ही  दिया  जा चूका है। बावजूद इसके प्रत्याशियों के द्वारा प्रचार वाहन, रिक्शा, टेम्पू और चार पहिया पर स्पीकर  के माध्यम  से करवाये  जा रहे  प्रचार  में  आचार संहिता का उलंधन  किया  जा रहा है।  जिसको  लेकर वैसे प्रत्यासियो के विरुद्ध आचार संघिता का मामला भी दर्ज किया जा रहा है |

इतना ही नहीं पंपलेट को चाय दुकान से लेकर पान दुकान तक ही नही बिजली के पोल पर तथा सार्वजनिक स्थलों पर चिपकाया गया है। इन सभी को छोड़कर प्रत्याशियोंभी  दर्ज  करवाया गया  है।  इसके  बाबजूद  प्रत्यासी  मोटर साइकिल पर अपने समर्थकों के साथ दिन  रात  धूमने का कार्य कर रहे है । इस बाबत  कुछ लोगों कहना है अगर पुलिस प्रशासन आचार संहिता उल्लंघन के मामले में दखल नहीं दिया तो प्रत्याशियों का मनमानी बढ़ जाएगा और इससे कुछ जगहों पर अशांति भी फैलेगी।कई प्रत्याशी तो टी शर्ट पर अपना चुनाव चिन्ह और नाम छपवा कर खुले आम प्रचार कर रहे हैं.।