जदयु MLC के बेटे ने युवक को बीच सड़क गोली मारी, मौत के बाद भड़का बवाल !

1168

पटना। गया में एक बार फिर राजनीतिक हनक में दबंगई करने वाले रसूखदार के बेटे ने एक छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी है। सत्तारूढ दल जदयू की विधान पार्षद मनोरमा देवी के बेटे और उसके दोस्तों ने गया के पाईप व्यवसायी पुत्र आदित्य सचदेवा को सर में पीछे से गोली मार कर हत्या कर दी।

घटना बीती रात करीब 10 बजे के आसपास की है। बोधगया से गया की ओर आ रही व्यवसायी पुत्र और एमएलसी पुत्र की फोर व्हीलर गाड़ी के बीच रोडरेज में बढे विवाद में एमएलसी पुत्र रॉकी ने व्यवसायी पुत्र आदित्य सचदेवा की गाड़ी को चेज करने के दरम्यान गाड़ी पर पीछे से गोली चलाई , जिसमे आदित्य की सर में गोली लगी और घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गयी।

इस घटना में एमएलसी का बॉडी गार्ड राजेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है, और हत्या करने वाले रॉकी के पिता बिंदी यादव को पूछताछ के लिए रामपुर थाने में लाया गया है। आरोपी रॉकी फरार है और उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

फूटा जनाक्रोश, हंगामा

ह्त्या के विरोध में व्यवसायी और कई राजनैतिक पार्टियां सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रहे हैं। हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर स्थानीय लोग अड़े हुए है। घटना को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। लोगों ने सुबह से सड़क जाम कर रखा है और सरकार व पुलिस-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं।

आदित्य सचदेवा हत्या को लेकर उसके परिवार वाले कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। भाजपा व अभाविप समर्थक आदित्य के घर के पास स्वराजपुरी रोड पर धरना पर बैठे हैं। सभी एमएलसी पुत्र रॉकी की गिरफ़तारी की मांग कर रहे हैं। आदित्य का शव घर पर है। बाहर से किसी परिवार वाले के आने का इंतजार हो रहा है।

कहा एसपी ने- अपराधी जल्द ही होगा गिरफ्त में

गया की एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा कि पुलिस ने घटना के बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए अपराध में शामिल वाहन को शहर के एपी कालोनी स्थित एमएलसी मनोरमा देवी के घर से बरामद कर लिया है। विधान पार्षद के अंगरक्षक राजेश कुमार को गिरफ़तार कर लिया गया है। उसके पास रहे एक कारवाईन और 70 राउंड गोली को भी जब्त कर लिया गया है।

पुलिस विधान पार्षद के पति व जदयू नेता बिंदेश्वरी प्रसाद यादव उर्फ बिंदी यादव को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। एसपी ने कहा कि मामले की तहकीकात चल रही है और जल्द ही रॉकी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ओवरटेकिंग के विवाद में हत्या

बताया जाता है कि पास न मिलने पर मनोरमा देवी के बेटे ने आदित्य को गाड़ी को ओवरटेक करके रोका और उसकी पिटाई की। पिटाई के बाद जब आदित्य माफी मांग कर जाने लगा, तभी रॉकी ने पीछे से गोली चला दी, जो आदित्य के सिर में जा लगी। उसकी मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

बिंदी यादव, बॉडीगार्ड हिरासत में

घटना के बाद पुलिस ने एमएलसी की कार को गया के रामपुर थाना स्थित उनके आवास से बरामद कर लिया है।पुलिस ने एमएलसी मनोरमा देवी के पति और बाहुबली कहे जाने वाले बिंदी यादव तथा एमएलसी के एक बॉडीगार्ड राजेश को हिरासत में लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। रॉकी फरार है। पुलिस उसकी तलाश में लग गई है।

बिंदी यादव ने कहा कि जो कानून की प्रक्रिया है, वो होगी। हम कानून का सम्मान करते हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि उनके बेटे को कार से बाहर खींचकर पीटा गया। इसपर उसने अात्मरक्षा में लाइसेंसी पिस्तौल से गोली चलाई, जो गलती से आदित्य को लग गई होगी।

गया के कारोबारी का बेटा है आदित्य

आदित्य गया के एक बड़े कारोबारी का बेटा था। वह गया के नाजरथ स्कूल में 12वी का छात्र था।आदित्य अपने एक दोस्त की बर्थ-डे पार्टी में बोधगया गया था और वहीं से लौट रहा था।

प्रत्यक्षदर्शी ने कहा, कमांडो ड्रेस वाले ने चलाई गोली

इस मामले में आदित्य के दोस्त आयुष ने बताया कि वे लोग रॉकी की गाड़ी को ओवरटेक कर रहे थे, तभी उन्होंने गोली चला दी। आयुष के मुताबिक गोली चलाने वालो में से एक ने कमांडो ड्रेस पहन रखी थी।

जदयू ने दी प्रतिक्रिया

हत्या के मामले में जदयू के महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वाले को कभी माफ नहीं किया जाएगा। जिसने भी अपराध किया है उसे सजा दी जाएगी। कानून का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आपराधिक गतिविधियों में लिप्त लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।

इस मामले में प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा की इस हत्या में यदि उनके खिलाफ सबूत हैं तो उनके खिलाफ पुलिस के साथ-साथ पार्टी भी सख्त कार्रवाई करेगी।

इसके साथ ही अपनी प्रतिक्रिया देते हुए जदयू के नेता अली अनवर ने कहा कि कानून अपने हाथ में लेने का किसी को अधिकार नहीं है। जो एेसा करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

विपक्ष ने कहा- कानून का राज समाप्त हो गया है

हत्या की इस घटना के बाद विपक्ष ने भी अपने तेवर कड़े कर लिए हैं। बीजेपी नेता विनोद नारायण झा ने कहा कि शासन और सत्ता पक्ष में शामिल बाहुबली लोगों का वर्चस्व बढता जा रहा है। रोज अपराध की घटनाओं में इनकी संलिप्तता बढती जा रही है, मुख्यमंत्री को नीतिगत आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।

श्रोत: जागरण