आप के मुकाबले स्वराजअभियान का लोक उम्मीदवार लड़ेगा एमसीडी चुनाव !

2016

(koshixpress desk) आम आदमी पार्टी जब दिल्ली के चुनावी समर में आई थी, तो उनका दावा था साफ सुथरी छवी के लोगों का सामने लाने का। विकेंद्रीकरण का। प्रत्याशियों के चयन में पारदर्शिता का। स्वराज का। लेकिन आगे चलकर इनमें मतभेद हुआ और योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण के नेतृत्व मं स्वराज अभियान सामने आया। अब स्वराज के सदस्य दिल्ली में होने वाले नगर निगम के उपचुनावों में प्रत्याशी खड़ा कर रहे हैं। इससे स्पस्ट है कि आप को भीतर से ही चुनौती मिलने वाली है। लेकिन सबसे बड़ी बात है कि स्वराज अभियानियों ने अनूठा प्रयोग करते हुए दिल्ली के वज़ीरपुर वार्ड संख्या में 67 मेंलोक-उम्मीदवार उतारने का फैसला लिया है। इसके लिए 4 नामांकित उम्मीदवारों की घोषणा हुई है।
क्या होगी प्रक्रिया
रविवार को स्वराज अभियान ने दिल्ली के निगम उप-चुनावों के दौरान उम्मीदवार चयन के अपने एक अनूठे प्रयोग से सम्बंधित कई घोषणाएं की। ईस्ट पटेल नगर स्थित दिल्ली यूनिट के दफ्तर पर आयोजित प्रेस वार्ता में स्वराज अभियान ने बताया कि लोक-उम्मीदवार चयन का यह प्रयोग वज़ीरपुर वार्ड 67 में किया जायेगा।

 

स्वराज अभियान जानता है कि इस तरह की कोई भी प्रक्रिया अत्यंत कठिन होती है, लेकिन राजनीतिक व्यवस्था सुधारने की प्रतिबद्धता अभियान के लिए सर्वोपरि है, न कि सिर्फ सीट जीत लेना। स्वराज अभियान का मानना है कि आज की राजनीति में गंदगी और भ्रष्टाचार का एक मुख्य कारण है चुनावों में टिकट बांटने बेचने का धंधा। अभियान ने इस बात पर अफ़सोस जताया कि राजनीतिक पार्टियां आज टिकट की दुकान हो गयी हैं। चुनाव में किसी क्षेत्र का उम्मीदवार कौन हो ये जनता तय नहीं करती, पार्टियों के सुप्रीमो तय करते हैं। जनता को मजबूरन पार्टियों द्वारा उपलब्ध कराये उम्मीदवारों में से ही चुनना होता है।

वैकल्पिक राजनीति के लिए प्रतिबद्ध एक ज़िम्मेदार संगठन के तौर पर लोग अपना उम्मीदवार खुद चुन पाये, स्वराज अभियान इसका अवसर बना रहा है। स्वराज अभियान अभी राजनीतिक पार्टी नहीं है। वज़ीरपुर की जनता जिसे भी अपना लोक-उम्मीदवार चुने, उस स्वतंत्र उम्मीदवार को अभियान अपना पूर्ण समर्थन देगा। प्रक्रिया का हिस्सा बनने वाले सभी उम्मीदवारों ने हलफ़नामा देकर कहा है कि जिसे भी वज़ीरपुर की जनता अपना लोक-उम्मीदवार चुनती है, सभी उसका समर्थन और प्रचार करेंगे।

swarajचयन प्रक्रिया के लिए वोटरों के रेजिस्ट्रेशन की अंतिम तारीख 20 अप्रैल है। अब तक वजीरपुर वार्ड 67 के 5,000 से ज़्यादा लोगों ने प्रक्रिया में हिस्सा लेने की सहमति दे दी है। 22 अप्रैल की शाम को जनता के सामने वोटों की गिनती होगी और लोक-उम्मीदवार की घोषणा कर दी जायेगी।

चुनाव आयोग के भूतपूर्व सदस्य  नूर मोहम्मद ने स्वराज अभियान के लोक-उम्मीदवार चयन प्रक्रिया के पर्यवेक्षक की भूमिका निभाने की सहमति दे दी है। सेवानिवृत आईएएस अधिकारी  नूर मोहम्मद उत्तर प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त और भारत के उप चुनाव आयुक्त रह चुके हैं।

श्रोत- http://panchayatkhabar.com/swaraj-abhiyan