पंचायत चुनाव – पति के लिए निवर्तमान मुखिया मांग रही वोट !

2787
निवर्तमान मुखिया और मुखिया प्रत्याशी

सहरसा- पंचायत चुनाव में कई रंग देखने को मिल रहे हैं। कहते है जब हसरतें हिलोरे मारने लगती है तो आव देखा जाता है न ताव जिसका नतीजा यह रहा की इस बार पंचायत चुनाव में अपने ही एक दुसरे के सामने है,इस बार भी कही पति-पत्नी,जेठानी-देवरानी,भाभी-ननद,चाचा-भतीजा और सास-बहु चुनावी मैदान में कूद पड़े। ऐसा ही मामला सहरसा जिले के महिषी प्रखंड के वीरगाँव पंचायत में देखने को मिला | इस पंचायत से पति-पत्नी ने पंचायत प्रतिनिधि बनने का सपना ले कर नामांकन भी कर दिया। हालाँकि नविर्तमान मुखिया (पत्नी) ने अपने पति के लिए चुनाव मैदान छोड़ दिया। निवर्तमान मुखिया अपने पति को जिताने के लिए कमर कसते हुए चुनाव प्रचार में जुट गई है |

13007078

हुआ यूं कि वीरगाँव पंचायत कि नविर्तमान मुखिया अर्चना आनंद ने चुनाव लड़ने के लिए परचा दाखिल किया। ठीक उसी पंचायत से निवर्तमान मुखिया के पति शिवेन्द्र कुमार सिंह “जीशु” भी मुखिया बनने के लिए नामांकन दाखिल कर दिए थे। पति-पत्नी द्दारा एक ही पंचायत से एक ही पद (मुखिया) पर चुनाव लड़ने की चर्चा क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा लेकिन बाद में निवर्तमान मुखिया अर्चना आनंद ने चुनाव से अपना नाम वापस लेने का निर्णय लेते हुए पति के लिए वोट मांगने में जुट गई |

निवर्तमान मुखिया अब अपने पति की जीत के लिए  प्रचार में लगी हुई है |

मुखिया प्रत्याशी शिवेन्द्र कुमार सिंह “जीशु” की जीत के लिए निवर्तमान मुखिया सह उनकी पत्नी अर्चना आनंद वोट मांग रही है। मतदान की तिथि नजदीक आते ही घर में चौका चूल्हा छोड़कर बाहर निकल कर पति के प्रचार-प्रसार करने में जुटी हैं।

प्रचार करती निवर्तमान मुखिया
प्रचार करती निवर्तमान मुखिया

वीरगाँव पंचायत से मुखिया पद के प्रत्याशी शिवेन्द्र कुमार सिंह “जीशु” की पत्नी निवर्तमान मुखिया अर्चना आनंद अपने पति के पक्ष में प्रचार प्रसार करने लगातार कार्यकर्ताओं के साथ घर-घर जा रही है। अर्चना आनंद ने बताया कि वे सुबह निकल जाती है और शाम तक मतदाताओं से मिलती रहती है। मतदाताओं के घर जाकर मिलने से काफी सकरात्मक प्रभाव पड़ रहा है। इस दौरान चौका चूल्हा छूटा हुआ है। कई दिनों से हर वार्ड में जाकर प्रचार-प्रसार कर रही है।

जो भी हो  पति को चुनाव में जीत दिलाने के लिए इतना त्याग तो करना जरूरी है।