सार्थक पहल – बंदियों को दिया गया स्वरोजगार का प्रशिक्षण !

1412
स्वरोजगार प्रशिक्षण के समापन पर पुर्व सांसद आनंद मोहन सहित जेल अधीक्षक हरि नारायण प्रसाद सहित अन्य

सहरसा – बंदियों के लिए जेल का जीवन किसी काल कोठरी से कम नही हुआ करता था | लेकिन आज के समय में मंडल कारा में अब कैदियों के सुधार एवं रोजगार के लिए अनोखी पहल की है। जेल अधीक्षक एवं पुर्व सांसद आनंद मोहन की पहल पर यहां कैदियों को स्वरोजगार का प्रशिक्षण दिया गया |

IMG-2016

स्वयंसेवी संस्था दिशाएं फाउन्डेशन के सहयोग से जेल में बंदियों को स्वरोजगार प्रशिक्षण के साथ ही उन्हें मोमबती,अगरबत्ती,सलाई,कपड़े धोने के साबुन,डिटरजेंट पाउडर सहित महिलाओं को सिलाई-कटाई आदि का प्रशिक्षण दिया गया है। यह प्रशिक्षण 3 माह तक चला। पुर्व सांसद आनंद मोहन कि प्रेरणा से मंडल कारा में समय-समय पर वृक्षारोपण(फलदार) सहित बंदियों को रोजगार के लिए कई विधाओ में प्रशिक्षण दिया जाता रहा है |

IMG-20160413
प्रशिक्षण समापन से पुर्व जेल अधीक्षक हरि नारायण प्रसाद,उपाधीक्षक विपिन कुमार सिंह व पुर्व सांसद आनंद मोहन के समक्ष प्रशिक्षण ले रहे बंदियों ने स्वनिर्मित समानो का प्रदर्शन किया |प्रशिक्षित बंदियों में पवन यादव,सत्तन महतो,अमित कुमार,मनीष कुमार,उपेन्द्र शर्मा,सहित अन्य बंदियों शामिल थे | पुर्व मुखिया अनिल कुमार यादव ने कारा प्रशासन और दिशाएं फाउन्डेशन के प्रयाशो की तारीफ की | 3 माह तक चले इस प्रशिक्षण में बंदीयो ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया |
क्या है प्रशिक्षण का मकसद:
इस तरह के प्रशिक्षण का मकसद बंदियों की आपराधिक मानसिकता में बदलाव और सुधार लाना है साथ ही सजा पुरी कर बाहर निकलने के बाद स्वयं का रोजगार कर सकते है |