नालों में बहा दी गई लाखों की शराब !

1188
नालों में देशी शराब बहबाते उत्पाद अधीक्षक

IMG-20160401-WA0003

सहरसा – बिहार सरकार ने प्रदेश में शराबबंदी का जो ऐतिहासिक फैसला लिया था, वह लागू हो गया है। प्रदेश में देसी और मसालेदार शराब का उत्पादन,बिक्री पर पुरी तरह से रोक लगा दिया गया है | गुरुवार की रात जैसे ही 10 बजा  पुरा जिला प्रशासन शराब बंदी के तहत देशी शराब के दूकानों पर जा कर बचे शराब को नालों में बहाने में लग गए | मालुम हो की इसके जिले भर में करीब 26 दंडाधिकारी सहित पुलिस पदाधिकारीयों सहित उत्पाद बिभाग की टीम गठित की गई थी | 10 जैसे ही बजा और जिले भर के देशी शराब दूकानों में बचे शराब को नालों में बहा दिया गया | हलाकि अंग्रेजी की दुकाने पुरी तरह से खाली हो गई थी | उत्पाद बिभाग के टीम द्दारा सभी दूकानों को पुरी तरह से सील कर दिया गया |

1 अप्रैल से पूर्ण शराब बंदी होने के कारण गुरुवार को दिन से ही शराब दूकानों पर लोगो की अन्य दिनों की भांति अधिक भीड़ देखनो को मिला |इतना ही नही 50 रूपए में मिलने वाली देशी शराब दिन में 25 रूपए और शाम होते होते 10 रूपए में मिलने लगा,पूर्ण बंद को लेकर लोगो में जम कर इसका सेवन भी किया और कुछ पीने के लिए खरीद कर ले भी गए | यही हाल अंग्रेजी शराब का भी रहा अन्य दिनों एक रूपया कम में भी शराब नही दिया जाता था लेकिन स्टॉक को खत्म करने के लिए कम दामों में बेचा जा रहा था,साथ ही ऑफर एक बड़ा के साथ एक छोटा फ्री कर भी बेचा जा रहा था | जिस कारण शराब पीने वालों ने इसे भी जमा करने का काम किया | उत्पाद अधीक्षक रजनीश कुमार के अगुवाई में चली छापेमारी में करीब 51 हजार लीटर देशी शराब को नालों में बहाया गया | जो लाखों मुल्य की थी | IMG-20160401-WA0019