काले धन को सफ़ेद करने की खेती !

915

अगर यह बात सच हो तो शायद यह UPA सरकार के दिनों का सबसे बड़ा घोटाला होगा! ‘काली खेती’ का घोटाला! लाखों अरब रुपये का घोटाला होगा यह. इतना बड़ा कि आप कल्पना तक न कर सकें! गिनतियों में उलझ कर दिमाग़ घनचक्कर हो जाये! छह सालों में यह छब्बीस करोड़ करोड़ रुपये का गड़बड़झाला है. जी आपने बिलकुल सही पढ़ा. दो बार करोड़ करोड़. छब्बीस करोड़ करोड़ रुपये से ज़्यादा की रक़म! यानी भारत की कुल जीडीपी के 16 गुना से भी ज़्यादा बड़ी रक़म का घोटाला? क्या सचमुच यह सम्भव है? और सम्भव है तो कैसे? और यह घोटाला कम से कम छह सालों तक तो चला ही. कौन जाने उसके बाद भी चला हो या शायद अब भी चल रहा हो? कह नहीं सकते. क्योंकि आँकड़े तो सिर्फ़ इतने साल के ही उपलब्ध हैं. आय कर के एक पूर्व अधिकारी विजय शर्मा ने RTI से प्राप्त जानकारी के आधार पर पटना हाइकोर्ट में जनहित याचिका दायर की है कि इस पूरे मामले की जाँच हो.

Black Money Scam through Agricultural Income - Raag Desh 190316

काले धन को सफ़ेद करने की खेती !

अगर यह आँकड़ें सच और सही हैं, तो स्वतंत्र भारत के इतिहास में काले धन (Black Money) को सफ़ेद करने का इतना बड़ा गोरखधन्धा पहली बार सामने आया है. अभी तक केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने या वित्त मंत्रालय ने इन आँकड़ों का खंडन नहीं किया है और वित्तमंत्री अरुण जेटली संसद में साफ़ इशारा भी कर चुके है कि सरकार एक बड़े घोटाले की जाँच कर रही है और बाद में यह न कहा जाये कि इसके पीछे राजनीतिक दुर्भावना है.
साल में 300 करोड़ रूपये कमाई वाली खेती?
यह गोरखधन्धा ‘काली खेती’ का है. ‘काली खेती’ मतलब काले धन को सफ़ेद करने की खेती! क्योंकि कृषि से कमाई पर कोई आय कर नहीं लगता है. आँकड़ों को देखिए तो दिमाग़ का कचूमर निकल जायेगा. सिर्फ़ एक साल में यानी सिर्फ़ 2011 में छह लाख से ज़्यादा लोगों ने क़रीब बीस करोड़ करोड़ रुपये की कृषि आय घोषित की! भारत की मौजूदा जीडीपी क़रीब 1.61 करोड़ करोड़ रुपये है. ऐसा कैसे हो सकता है कि एक साल में देश की जीडीपी के बारह गुने से भी ज़्यादा की कमाई खेती से हो जाये मामूली-सा गणित कर लीजिए. बीस करोड़ करोड़ को 656944 (कृषि आय घोषित करनेवालों की कुल संख्या) से भाग दीजिए. उत्तर मिलेगा 304 करोड़ रुपये! यानी इनमें से औसतन हर व्यक्ति को खेती से तीन सौ करोड़ रुपये की आमदनी हुई! किस ज़मीन पर क्या बोया था इन्होंने कि खेती कर इतनी कमाई कर ली?

विस्तार से पुरी खबर पढने के लिए click करे .( http://raagdesh.com/black-money-laundering-in-the-garb-of-agricultural-income/ )