लोकसभा में उठा खगड़िया छात्र नंगा जाँच मामला

1413

सहरसा-आज लोकसभा में शून्यकाल के दौरान मधेपुरा के स्थानीय सांसद राजेश रंजन उर्फ़ पप्पु यादव ने खगडि़या जिले के महेशखूंट स्थित शारदा गिरधारी कॉलेज में शुक्रवार को मैट्रिक परीक्षार्थी की पैंट खुलवा कर जांच करने का मामला सामने आने के बाद इस मामले को उठाया। सासंद श्री यादव ने कहा कि यह मानवाधिकार का उल्लंघन है। दोषी पुलिस कर्मी और जिम्मेवार अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने प्रशन काल के दौरान संसद सत्र में कहा कि मुजफ्फरपुर में सेना में भर्ती के लिए अंडरवियर पर परीक्षा ली गयी थी और खगडि़या में कदाचारमुक्त परीक्षा के नाम पर परीक्षार्थी को नंगा कर दिया गया।उन्होंने सदन में इस घटना को लेकर निंदा प्रस्ताव लाने की मांग करते हुए कहा की बिहार में शिक्षा नाम की कोई चीज नहीं है। स्कूलों में न शैक्षणिक माहौल है और न पढ़ाने वाले शिक्षक हैं। प्राइमरी से लेकर उच्च शिक्षा तक यही हाल है। स्कूल में बच्चे सिर्फ एमडीएम, छात्रवृत्ति और साइकिल के लिए जा रहे हैं। शिक्षा को लेकर सरकार गंभीर नहीं है। बेहतर, नियमित और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के बगैर कदाचारमुक्त परीक्षा संभव नहीं दिखती है। राज्य सरकार को भी इस दिशा में गंभीर प्रयास करना चाहिए।कदाचारमुक्त परीक्षा के नाम पर प्रशासनिक अराजकता ने अपनी सारी हदें पार कर दी है। मैट्रिक परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों के कपड़े उतरवा कर जांच की जा रही है। खगडि़या जिले के महेशखूंट में एक परीक्षार्थी को निर्वस्त्र कर दिया गया। यह कौन-सा सुशासन है। स्कूल में शिक्षक नहीं हैं, शिक्षा का माहौल नहीं है, पढ़ाई नहीं हो रही है। फिर कदाचारमुक्त परीक्षा के नाम पर पुलिस की अमानवीय कार्रवाई को सही नहीं ठहराया जा सकता है। सरकार को पहले शिक्षा का माहौल बनाना चाहिए। इसके बाद कदाचारमुक्त परीक्षा का दावा करना चाहिए। सांसद श्री यादव ने सरकार से मांग किए कि परीक्षार्थी को नंगा करने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई करे और परीक्षार्थियों के साथ अमानवीय व्यवहार बंद किया जाए।
क्या है पूरा मामला

मधेपुरा सांसद पप्पु यादव
मधेपुरा सांसद पप्पु यादव

बिहार के खगड़िया जिले का महेशखूंट के शारदा गिरधारी कॉलेज में बनाये गये मैट्रिक परीक्षा केंद्र के बाहर शुक्रवार को पुलिस अधिकारी द्वारा परीक्षार्थी की कपड़े उतरवा कर जांच करने के बाद बवाल मचा हुआ है. कदाचार रोकने के नाम पर परीक्षार्थियों के साथ ऐसा सलूक किया गया कि चारों ओर निंदा हो रही है.