दुष्कर्म को दबाने के लिए आरोपी ने पीडिता का किया घेराव !

1162
पीडिता

सहरसा। जिले के सिमरी बख्तियारपुर थाना के बलवा ओपी के सिंगरौली गांव में ग्यारह वर्षीय एक लड़की के साथ उसी गांव के एक व्यक्ति ने दुष्कर्म किया। इसमें नामजद बनाये गये बीजल पोद्दार ने पीड़िता को डरा धमकाकर चौबीस घंटे तक घर में ही रोके रखा। मौका पाकर सोमवार को पीड़िता किसी तरह बख्तियार पहुची और लोगों के मदद से थाने के शरण में पहुँच गयी। सिमरी बख्तियारपुर थाना प्रभारी महेंद्र प्रसाद यादव ने बताया की दुष्कर्म मामले में बीजल के साथ उसकी पत्नी को भी अभियुक्त बनाया गया है। थाना प्रभारी ने माना की पीड़िता द्वारा यह बात बार बार बतायी जा रही थी आरोपियों द्वारा उसके साथ दुष्कर्म किये जाने क बाद घर से बाहर नहीं जाये इसके लिये पीड़िता को नशा की गोली खिला दी गयी थी। काफी गरीब परिवार से आने वाली पीड़िता के साथ यह घटना शनिवार की शाम को घटी। पीड़िता के परिजनों के मुताबिक काठो पंचायत के सिंगरौली गांव में आरोपी की पहचान पैसे वालों के रूप में है। बलवा ओपी प्रभारी ने बताया की पीड़िता का मेडिकल चेक अप करा दिया गया है और हो सकता है की रेडियोलॉजिस्ट का मंतव्य लेने उसे भागलपुर भी भेजा जा सकता है। गांव वालों के मुताबिक घटना के बाद पंचायत भी हुआ जिसमे पीड़िता ने पंचों को अपने शरीर पर लगे जख्मों के निशान को भी दिखाया। मगर अत्यधिक गरीब होना पीड़िता के लिए अभिशाप बन गया और पंचों द्वारा भी उसे कोई इन्साफ नहीं मिल सका। अंत में सोमवार को वह हिम्मत करके मुख्य सड़क के बदले लूप लाइन पकड़कर सिमरी बख्तियारपुर पहुँच गयी तब जाकर इस दुष्कर्म का खुलासा हो पाया। हालांकि बलवा ओपी प्रभारी सुनील कुमार ने बताया कि भला एक बुजुर्ग दंपत्ति किसी नाबालिग से बलात्कार क्यों करेगा। मगर इस बात का ओपी प्रभारी जवाब नहीं दे पाये की अगर ग्यारह वर्षीय लड़की से दुष्कर्म नहीं हुआ तो फिर उसका रेडियोलॉजिस्ट मंतव्य लेने भागलपुर भेजने का इरादा क्यों है।