जाप (लो) का कल बिहार बंद -पप्पू यादव

1197

सहरसा- जेएनयू मामले में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह जी का हस्तक्षेप उचित नहीं था। केंद्र सरकार को तत्काल जेएनयू छात्र संघ के नेता कन्हैया के खिलाफ देशद्रोह का मामला वापस लेना चाहिए और उन्हें रिहा करना चाहिए। आज पटना में पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि केंद्र सरकार से कन्हैया कुमार की रिहाई की मांग करते है और साथ ही सत्ता संरक्षित संगठित अपराध के खिलाफ कल 20 फरवरी को बिहार बंद का आह्वान जन अधिकार पार्टी (लो) ने किया है | और पार्टी ने सभी विपक्षी दलों से समर्थन मांगा है। मधेपुरा सांसद श्री यादव ने कहा की राज्य में तीन माह में करीब 700 से ज्यादा हत्या, 200 से ज्यादा बलात्कार की घटनाएं हो चुकी हैं। अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार महागठबंधन के आरोपित विधायकों को बचाने का प्रयास कर रही है। डाक्टरों, व्यावसायियों व इंजीनियरों का भयादोहन किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि जेएनयू छात्र नेता कन्हैया कुमार निर्दोष है। केंद्रीय एजेंसी आइबी ने भी कन्हैेया को निर्दोष माना है। दिल्लीं पुलिस कमिश्नंर बस्सी ने भी कहा है कि वे कन्हैया की जमानत का विरोध नहीं करेंगे। यह इस बात का प्रमाण है कि कन्हैया के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है और उसे सिर्फ राजनीतिक कारणों से परेशान किया जा रहा है। जन अधिकार पार्टी (लो) इस कार्रवाई का विरोध करती है।
उन्होंने कहा कि जन अधिकार पार्टी (लो) जनहित के मुद्दों पर संघर्ष करती रही है और रहेंगी | जाप(लो) बिहार की जनता के मान-सम्मान के लिए संसद से सड़क तक लड़ती रहेगी। राज्य में महागठबंधन की सरकार आम आदमी को सुरक्षा प्रदान करने में विफल साबित हो रही है। हर तरफ असुरक्षा का माहौल है। इसके खिलाफ ही पार्टी ने बंद का आह्वान किया है। इस बंद को सफल बनाने की अपील श्री यादव ने आम लोगों से भी की है। वही दूसरी तरफ बिहार बंद को लेकर आज शाम सहरसा में जन अधिकार पार्टी (लो) ने मसाल जुलुस निकालते हुए बंद को सफल बनाने का आग्रह किया। मसाल जुलुस जिला परिषद प्रांगण से निकाला गया |इस मसाल जुलुस में जाप(लो) के जिलाध्यक्ष मु०अब्दुस सलाम,हरिहर प्रसाद गुप्ता,उमेश यादव,समीर पाठक,जितेन्द्र भगत,इंदल यादव,बमबम तिवारी,शशी यादव,मनोज पासवान,मु० तारिक खान,प्रभाष यादव,कमल गुप्ता सहित दर्जनों जाप(लो) कार्यकर्ता मौजूद थे|