नावालिक के साथ दुष्कर्म,मानवता हुआ शर्मसार

1376
सांकेतिक तस्वीर

सहरसा- एक मासूम के साथ उसके ही गाँव वाले ने ऐसी हरकत की मानवता भी शर्मशार हो गयी।पहले तो दरिंदे ने उसका अपहरण किया और फिर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।ये सिलसिला एक बार नहीं बल्कि लगातार पाँच दिनों तक यह होता रहा ।सहरसा से लेकर पटना तक वो चीखती-चिलाती रही और दरिंदे उसके जिस्म नोचते रहे।इतने से भी उन दरिदे का मन नहीं भरा तो दरिंदो ने उसकी हत्या करनी चाही।अब समाज के नुमाइंदे(बिहार सरकार के मंत्री और जनअधिकार पार्टी के संयोजक ,मधेपुरा के सांसद )दरिंदो को सजा दिलाने की बात कह रहे है ,लेकिन खाकीधारी,मामले की पहले जाँच और अब करवाई की बात कर रहे है। अस्मत लुटाई यह बच्ची किस्मत से बच गयी। लोक लाज और दुष्कर्मियों के भय से पहले खामोश रहना ही मुनासिब समझा लेकिन घर के लोगों के समझाने बुझाने के बाद किसी तरह हिम्मत बटोरकर पहले तो वो थाने पहुँची फिर कोर्ट के सामने पुरे सच को खोलकर रख दिया। प्राप्त जानकारी अनुसार घटना सहरसा के बिहरा थाना के गाँव की एक नावालिक लड़की की है जो दसवी की छात्रा है। जिसके अस्मत को चाक करने वाले दरिंदे अभी तक पुलिस पकड़ से बाहर है और खुले आम घूम रहा है |बिहरा थाना इलाके की एक गाँव की रहने वाली दसवी की एक नावलिक छात्रा बबिता (काल्पनिक नाम)है। बीते पन्द्रह जनवरी को इसको इसके गाँव के ही पाँच युवकों ने घर से अगवा कर लिया। इन युवकों ने अगवा कर पहले सहरसा लाया जहाँ बारी-बारी से पाँचो युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया,इसके बाद हवस के दरिंदे इस बच्ची को लेकर पटना चले गए और वहाँ पर लगातार उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। जब उन दरिंदो को ये खबर लगी की मामला पुलिस में चला गया तो उसे गाँव के पास ही सुनसान जगह पर लाकर 19 जनवरी की शाम उसकी हत्या करनी चाही ,लेकिन तब तक किसी गाँव वालों की नजर उस पर चली गयी और वो उस लड़की को छोड़कर फरार हो गया। मामला बिहरा थाने में दर्ज कर लिया गया है लड़की का सहरसा कोर्ट में 164 के तहत बयान भी कराया गया। अस्मत लुटाई ये बच्ची इंसाफ के इंतजार में है लेकिन आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर है ,जिसका भय हर पल इस बच्ची और उसके परिजनों को सत्ता रहा है पीड़िता ने बताई की आरोपी युवक मुँह में कपड़ा डालकर सहरसा ले गया ,सहरसा से पटना ले गया और पाँच आदमी बारी-बारी से रेप करते रह गया  पाँच रोज तक। फिर पटना से ये लड़के मुझे ट्रैन से सहरसा लाया और उनलोगों का इरादा मेरी हत्या करने का था।वही पीडिता का भाई बिरेन्द्र कुमार ने बताया की हम गरीब परिवार के लोग है मै दिल्ली में रहता हूँ ,हमारे पिताजी पर्व में सन्देश देने के लिए बहन के यहाँ गए थे ,हमारी मम्मी और बहन घर में अकेली थी ,घर में पाँच दबंग बदमाश आ गए और मुँह में कपड़ा डालकर बुलेरो से बहन को लेकर सहरसा गया ,सहरसा से पटना ले गया और बारी बारी से पाँच दिनो तक रेप करता रहा,खबर मिलने के बाद दिल्ली से मै आया ,आने के बाद थाने को सुचना दी ,थानाप्रभारी आए भी पर गाँव के ही कुछ लोग आरोपियों को खबर कर दिए की मामला पुलिस में चला गया है ,तब वो लोग मेरी बहन को लेकर आया और गाँव के ही सुनसान जगह पर इसे काट कर मारना चाहता था लेकिन गाँव के ही कुछ लोग देख लिए तब सभी पाँचो आरोपी लड़की छोरकर वहां से फरार हो गया। इधर सहरसा के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सुबोध विश्वास ने कहा की ये बिहरा थाना अन्तर्गत विशनपुर गाँव की पीड़िता है। पीड़िता के द्दारा 164 का बयान दिया गया है उसमे चार-पांच लड़कों पर बालात्कार करने का आरोप लगाई है। इनके पिताजी के बयान पर कांड दर्ज कर लिया गया है ,जिन लोगों पर आरोप लगाई है उन लोगों की गिरफ़्तारी हेतु पुलिस प्रयासरत है ,ये लोग फरार है ,वारंट ले लिया गया है ,अगर सरेंडर या गिरफ्तार नहीं होते है तो जल्दी ही कुर्की जब्ती की करवाई की जाएगी। मामला गंभीर है ,पीड़िता के द्वारा बताया गया है कि लागातार सहरसा और पटना ले जाया गया ,पांचवा दिन लड़की बरामद हुई है ,पिताजी के द्वारा मामला दर्ज करवाया गया है जब इस मामले पर राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री और इसी जिले से विधायक से मंत्री बने डॉ अब्दुल गफ्फूर से पूछा गया तो उन्होंने कहा की हमको आज इस घटना की जानकारी मिली है,कल उनके घर पर जायेँगे ,और जो भी हुआ काफी निंदनीय है। हमने जिला प्रशासन और पुलिस पदाधिकारी को कहा है कि दोषियों पर कठोर करवाई हो ,निश्चित तौर पर बच्चियों को जिसने अपहरण कर गंदे हरकत किया इससे हमारा समाज कलंकित है। इन हरकतों से ये हमारे सम्पूर्ण जिला की बदनामी हुई है। ये मर्माहत करने वाली खबर है। हम इसकी निंदा करते करते है |मधेपुरा के सांसद और जनअधिकार पार्टी के संयोजक पप्पू यादव कहते है जिस बिहार में विधायक जब बालात्कार और छेड़खानी करता हो,मंत्री इस राज्य का बालात्कार करता हो और पूरा सरकार ,मंत्री और विधायक के बचाव में लग जाता हो तो इस प्रदेश में कोई बेटी कोई माँ अब सुरक्षित नहीं है। लगातार बेटियों के साथ छेड़खानी से इस प्रदेश में ऐसा लगता है ये सरकार ही बलात्कारियों की हो गयी है। इसलिए किसके साथ क्या होगा ये कहना मुश्किल है। जिसका 164 का बयान आया है उसकी हर परिस्थिति में गिरफ़्तारी होगी ,इसपर हम चुप नहीं रहेंगे ,एस.पी साहब ने मुझसे एक सप्ताह का समय माँगा है ,और कहा है एक सप्ताह के भीतर सारे लोग जेल में होंगे ,इस पर कोई समझौता नहीं होगा ,मैंने तो कहा है उस बच्ची की शादी के लिए दो लाख रुपया दूँगा ,और उसके बाद पुरे प्रदेश में धरना पर हम बैठ रहे है ,जरुरत पड़ी तो सहरसा भी बंद करेंगे।