छात्र हत्या मामले में पुलिस को मिली सफलता |

2333
गिरफ्तार आरोपी

सहरसा- सहरसा में शनिवार की शाम इंटर के छात्र गौरव कुमार की उसके ही दोस्तों ने गोली मार कर हत्या कर दिया था,इस घटना के बाद से सहरसा पुलिस अभियुक्तों की गिरफ़्तारी के लिए अलग-अलग टीम बना कर अनुसंधान में जुटी रही और इसी का नतीजा रहा की 24 घंटे के अन्दर हत्या के सभी नामजद आरोपी को पकड़ पाने में पुलिस को बड़ी सफलता मिली | सहरसा पुलिस ने प्रेस बयान जारी कर इस आशय की जानकारी दी है-सहरसा पुलिस की अलग-अलग टीम हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए घटना के बाद से ही छापेमारी में जुटी रही थी |सूत्रों की माने तो सहरसा पुलिस ने हत्या की गुत्थी को शनिवार देर रात की सुलझा लेने में कामयाब हो गई थी,जानकारी अनुसार इस हत्या कांड में मुख्य आरोपी शशिकांत यादव उर्फ़ शशि यादव पिता सुगंधी यादव,आशुतोष कुमार उर्फ रॉकी सिंह पिता सुमन सिंह पंचवटी चौक,राजा कुमार पिता श्यामनंदन प्रसाद सिंह,निशांत कुमार एवं सुशांत कुमार उर्फ सन्नी(दोनों)पिता नीमा कुमार सिंह उर्फ पप्पू सिंह,आकाश कुमार पिता सुनिल कुमार,अप्राथमिकी अभियुक्त अमन कुमार सिंह पिता बसंत सिंह,शिवम सिंह पिता ददन सिंह,अनीश कुमार सिंह पिता सतीश प्रसाद सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है वही धंजित कुमार,अमित कुमार,निहाल कुमार की गिरफ्तारी हेतु प्रयाश जारी है |
मालूम हो की शनिवार की शाम सदर थाना अंतर्गत कारू खिरहर हॉल्ट के समीप क्रिकेट खेलने के क्रम में गौरव कुमार पिता शशि प्रसाद सिंह शहजादपुर निवासी जिला मधेपुरा का रहने वाला था जो सहरसा में अपने माता-पिता के साथ रह कर सहरसा कॉलेज में इंटर की पढ़ाई कर रहा था |
पुलिस के अनुसार इस हत्या कांड का मुख्य आरोपी शशिकांत यादव उर्फ शशि यादव ने पूछताछ के क्रम में अपने उक्त साथियों के साथ मिलकर गौरव को क्रिकेट खेलने के क्रम में मैदान से बुलाकर गोली मारने की बात को स्वीकार किया है,मालूम हो की शशि यादव का पुर्व से ही अपराधिक इतिहास रहा है और उसके उपर मामला भी दर्ज हो चूका है |हत्या के पीछे का कारण अब तक जो सामने आया है पर वह आपसी-विवाद में हुए झगड़ा को बताया गया है
घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद ही सहरसा पुलिस सजकता दिखाते हुए पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) मृत्युंजय कुमार चौधरी के निर्देशन में सदर अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी सुबोध कुमार विश्वास,प्रशिक्षु डीएसपी पोलस्त कुमार के नेतृत्व में त्वरित कार्रवाई करते हुए सदर अस्पताल परिसर से ही टीम गठित कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भेज दी गई थी जिस टीम में पुलिस निरीक्षक सदर अंचल तुलसी राम,प्रभारी सदर थानाध्यक्ष हीरालाल प्रसाद,नोहट्टा थानाध्यक्ष वकील प्रसाद यादव,महिषी थानाध्यक्ष श्रीकांत सिन्हा,बनगांव थानाध्यक्ष मुकेश मंडल,बैजनाथपुर शिविर प्रभारी रुदल कुमार,सोनवर्षा कचहरी प्रभारी पंचलाल यादव,बिहरा थानाध्यक्ष सरबर आलम,सौरबाजार थानाध्यक्ष रणवीर कुमार,अनि मंगलेश मधुकर प्रभारी टेकनिकल सेल,अनि सह अनुसंधानकर्ता नितेश कुमार सदर थाना,अनि राजेश भारती,अनि कमलेश सिंह,अनि उमाकान्त उपाध्या सदर थाना सहित पैंथर मोबाइल के सिपाही कारू सिंह,टेकनिकल सेल के सिपाही पंकज कुमार सहित अन्य एवं उक्त थाना के सशस्त्र बल शामिल थे | .