परीक्षा पर रहेगी विशेष नज़र -शिक्षा मंत्री

1060
चोरी की file photo (इन्सेंट में शिक्षा मंत्री )

बिहार में परीक्षाओं में बड़े पैमाने पर नकल वर्षो से होती रही है. परिक्षार्थियों के अभिभावकों से लेकर उनके सगे-संबंधी तक नकल करवाने में शामिल रहते रहे है.हर साल परीक्षा के मौसम में मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में नकल की खबरें और तस्वीरें छा जाया करती है |

लेकिन इस साल बिहार सरकार सहित शिक्षा विभाग ने मैट्रिक और इंटर की क्रमश: फरवरी और मार्च में होने वाली परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए कई कदम उठा रही हैं. शिक्षा विभाग ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाएं और उनका सीधा प्रसारण इंटरनेट पर कराने की व्यवस्था करें. इसके अलावा अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती भी की जाए.
शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा, ‘हम परीक्षाओं में नकल को और बर्दाश्त नहीं करेंगे. महागठबंधन की सरकार नकलरहित परीक्षा कराने के लिए प्रतिबद्ध है. अगर कोई नकल की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएंगे.’
शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार फरवरी के अंतिम हफ्ते में होने वाली 12वीं की परीक्षा में 14 लाख परीक्षार्थी और मार्च में 10वीं की परीक्षा में 15 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे. बिहार स्कूल परीक्षा समिति के चेयरमैन लालकेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि परीक्षा केंद्र के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे और परीक्षा केंद्रों के अंदर की वीडियोग्राफी कराई जाएगी. इसके अलावा परीक्षा केंद्रों पर हजारों सुरक्षाकर्मियों भी तैनात रहेंगे.

कुल परीक्षार्थी-(2016)-26853

कुल परीक्षार्थी-(2015)-21886

इस वर्ष कुल 268853 परीक्षार्थीयों में छात्र की संख्या कुल -15448,व छात्रा की संख्या -113०5 रहेंगी |

सहरसा जिले में कुल 22 परीक्षा केंद्र बनाए गए है जिस में सिमरीबख्तियारपुर में 3 ही केंद्र होंगे ,सहरसा शहर के 19 केंद्र में सिर्फ 7 केन्द्र सिर्फ लडकियों के लिए बनाया गया है |