त्योहार का समय क्या आया,ट्रेनों में बढ़ गई.……!

13
  • त्योहार का समय आते ही विभिन्न ट्रेनों में बढ़ी वेटिंग लिस्ट
  • पूजा स्पेशल ट्रेन में भी वेटिंग,दुर्गा पुजा,दिपावली,छठ में बड़ी संख्या में घर आते है लोग

सिमरी बख्तियारपुर(सहरसा) ब्रजेश भारती की रिपोर्ट :-

त्योहारी सीजन के नजदीक आने के साथ ही अन्य प्रदेशो से सहरसा आने वाली मुख्य ट्रेनों मे सीटे फुल हो गई है।कोई ऐसा ट्रेनें नही है जिनमें सीट का वेटिंग लिस्ट नही हो।
अमृतसर से वाया दिल्ली सहरसा आने वाली गरीबरथ या आदर्शनगर – सहरसा पुरबिया एक्सप्रेस दोनों ट्रेनों मे दुर्गा पूजा, दीपावली,छठ आदि के समय जबरदस्त वेटिंग चल रही है।दुर्गा पूजा, मुहर्रम, दीपावली से लेकर छठ तक के समय की यात्रा के लिए अप एवं डाउन दोनों तरफ से गरीब रथ और पुरबिया मे त्योहार के आसपास ज्यादा वेटिंग होने के कारण यात्रियों को आरक्षण मिलने मे दिक्कत हो रही है।यात्री सुबह सबेरे से स्टेशन से लेकर आईआरसीटीसी के वेबसाइट पर आरक्षण के लिए माथापच्ची करते है और फिर भी वेटिंग की स्थिति इस कदर है की रिजर्वेशन सम्भव नही हो पाता।
मालूम हो कि इस साल नवरात्र 21 सितंबर से शुरू हो रहा है और तीस सितंबर को विजयादशमी है।वही उन्नीस अक्टूबर को दीपावली और 26 व 27 अक्टूबर को छठ है।इन त्योहारों के मौसम मे काफी लोग दिल्ली से आते हैं,लेकिन टिकटों की मारामारी इनके हर साल की नियति मे शामिल है।इसके अलावे बड़े शहरों के स्कुलो मे इन त्योहारी सीजन के दौरान बच्चो को दस से पन्द्रह दिन की छुट्टी मिल जाती है।जिससे अभिभावक गाँव आना सही समझते है। वही जैसे-जैसे त्योहारी तारीख नजदीक आ रहे है ठीक वैसे ही वेटिंग का ग्राफ बढ़ता जा रहा है और काफी हद तक दलालों की भी चांदी हो गयी है।
यात्री बताते है कि कोसी इलाके को रेलवे द्वारा उपलब्ध कम ट्रेने ही इस मारामारी की मुख्य वजह है।यात्रियों के मुताबिक मांग अनुसार ट्रेने उपलब्ध होती नही और जिस वजह से उपलब्ध ट्रेनों मे वेटिंग बढ़ता जाता है और त्योहारी सीजन मे यात्रियों के भीड़ की बाढ़ आ जाती है तो आनन-फानन मे स्पेशल ट्रेन चला स्थिति को सामान्य दिखाया जाता है।हालांकि यह भी सच है कि स्पेशल ट्रेन का उचित प्रचार-प्रसार ना होने की वजह से यह ट्रेन यात्रियों के लिए ज्यादा सहायक सिद्ध नही हो पाती है।इसके साथ-साथ छठ पूजा के बाद दिल्ली व अमृतसर जाने वाली ट्रेनों मे भी लंबी वेटिंग देखी जा रही है।