तानाशाही सरकार के वादा खिलाफी के खिलाफ होगा चरणबद्ध आंदोलन : पंकज

5

सुपौल :बच्चों को सत्र शुरुआत के प्रथम सप्ताह में पुस्तक उपलब्धता,शिक्षकों को प्रतिमाह ससमय वेतन,पूर्ण वेतनमान, राज्यकर्मी का दर्जा,सेवा शर्त,अप्रशक्षित शिक्षकों को न्यूनतम निर्धारित वेतन का लाभ,उपशास्त्री डिग्रीधारी का वेतन भुगतान, अंतर वेतन भुगतान,सातवें वेतनमान के अनुकूल पे फिक्ससेसन व सेवा पुस्तिका संधारण व अद्यतन सहित अन्य समस्याओं को लेकर बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ त्रिवेणीगंज पूर्वी व पश्चिमी की संयुक्त बैठक त्रिवेणीगंज पश्चिमी के प्रखंड अध्यक्ष गजेंद्र कुमार की अध्यक्षता व पूर्वी के अध्यक्ष संजीव कुमार यादव के संचालन में मध्य विद्यालय रामजी दास में सम्पन्न हुआ।

बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष पंकज कुमार सिंह ने कहा कि सरकार के गलत शिक्षा नीति का खामियाजा बिहार के शिक्षक और छात्र को भुगतना पड़ रहा है।न बच्चों को समय से किताब न शिक्षक को समय से वेतन दिया जा रहा है।आलम ये है कि सत्र शुरुआत के पांच माह बाद भी बच्चों को जहाँ निःशुल्क और अनिवार्य शिक्षा के तहत सरकार पुस्तक उपलब्ध नही करा सकी है,वही शिक्षकों को भी पांच माह से वेतन नही दिया गया है।बिना किताब बच्चे कैसे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ले सकेंगे?सरकार पांच माह से किताब मुहैया कराने हेतु बारंबार समय निर्धारित कर पुस्तक उपलब्ध कराने में असफल साबित हुई है।

राज्यकर्मी की भांति सेवा शर्त लागू करने के लिए सरकार ने संघ से तीन माह का समय लिया था।लेकिन दो वर्ष पूरा होने के बाद भी सेवा शर्त लागू नही करना सरकार की तानाशाही और निरंकुशता को प्रदर्शित करता है।कहा कि सरकार समय रहते शिक्षक व छात्र की समस्याओं को पूरा करें, अन्यथा संघ पूरे बिहार भर में चरणबद्ध तरीके से आंदोलन के लिए बाध्य होगी।

जिला कोषाध्यक्ष अनिल कुमार,जिला संयुक्त सचिव मो जहाँगीर व जिला सोसल मीडिया प्रभारी मनीष कुमार यादव ने एक सुर में त्रिवेणीगंज के शिक्षकों के अंतर वेतन भुगतान पर विलंब की स्थिति में आंदोलन की चेतावनी विभाग को दिया।अनुमंडल संयोजक पिंकू दास ने कहा कि उपशास्त्री डिग्रीधारी को सेवा से हटाया जाना अनुचित है।प्रखंड अध्यक्ष गजेंद्र कुमार, संजीव कुमार यादव ने त्रिवेणीगंज अंतर वेतन भुगतान में हो रहे विलंब पर चिंता जाहिर किया है।

इस मौके पर पिपरा प्रखंड अध्यक्ष राजीव कुमार रंजन, बिनोद कुमार यादव,मनोज कुमार रजक,क्रांति यादव,रजाउर रहमान, मिथिलेश कुमार,अखिलेश बहादुर यादव,कृष्ण मुरारी अग्रवाल,राजेश गुप्ता,राजेन्द्र पासवान,श्रीप्रसाद विस्वास,रोशन कुमार सिंह,अर्चना कुमारी,शशिप्रभा, जय किशोर,संजीत मंडल सहित सैकड़ों शिक्षक /शिक्षिकाएं मौजूद थे।